Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी

पश्चिम बंगाल: छठे चरण के मतदान में भी हिंसा, बीजेपी प्रत्‍याशियों पर हमला

0

पश्चिम बंगाल: छठे चरण के मतदान में भी हिंसा, बीजेपी प्रत्‍याशियों पर हमला  :- पश्चिम बंगाल में छठे चरण की वोटिंग के दौरान भी हिंसा की खबरें हैं। घाटल से बीजेपी कैंडिडेट भारती घोष पर टीएमसी समर्थकों ने हमला कर दिया वहीं, बंगाल के बीजेपी चीफ दिलीप घोष पर भी हमले की कोशिश की गई। भारती की गाड़ी तोड़ दी गई थी और उन्हें एक मतदान केंद्र पर जाने नहीं दिया जा रहा था।
उधर, वोटिंग से पहले शनिवार रात बीजेपी और टीएमसी के एक-एक कार्यकता का शव मिला है। बता दें कि रविवार को छठे चरण का मतदान हो रहा है। इसमें कुल 59 सीटों पर चुनाव है, जिसमें पश्चिम बंगाल की भी 8 सीट शामिल हैं।

हमले के बाद भावुक हुईं भारती
काफिले पर हमले के वक्त के वीडियोज में लोग बंगाली में विरोध करते हुए ‘भारती वापस जाओ’ के नारे लगाते देखे गए। भारती की कुछ तस्वीरें भी सामने आईं। इनमें भारती रोती हुईं दिखाई दे रही हैं।
मिली जानकारी के मुताबिक कार पर हमले से पहले भारती ने कुछ पोलिंग बूथ्स पर जाने की कोशिश की थी लेकिन उन्हें टीएमसी कार्यकर्ताओं ने वहां घुसने नहीं दिया और नारेबाजी की। ऐसा उनके साथ एक से ज्यादा पोलिंग बूथ पर हुआ। इस पर भारती भावुक हो गई थीं।
बता दें कि पूर्व आईपीएस भारती घोष किसी वक्त में बंगाल की सीएम ममता बनर्जी की खास मानी जाती थीं लेकिन अब उनका मुकाबला टीएमसी से ही है। वहां उनके सामने टीएमसी के टिकट पर दीपक (देव) अधिकारी चुनाव लड़ रहे हैं। वह वहां के मशहूर ऐक्टर हैं।

गाड़ी में मिले थे 1.13 लाख, चार घंटे रहीं हिरासत में
भारती घोष का नाम वोटिंग से पहले शुक्रवार को भी चर्चा में था। दरअसल, उनकी गाड़ी से पुलिस को 1.13 लाख रुपये कैश मिला था। इसके लिए उन्हें 4 घंटे पुलिस हिरासत में रखा गया। बाद में भारती ने सफाई दी कि गाड़ी के अंदर 4 लोग मौजूद थे और वह सिर्फ अपने हिस्से के 50 हजार रुपये ले जा रही थीं, जिसकी अनुमति चुनाव आयोग की तरफ से दी गई है।

कार्यकर्ताओं की हत्या
पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी और तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों के बीच हिंसक झड़प लगभग हर चरण के चुनाव में देखने को मिली है। रविवार को हुए पथराव से पहले वहां दोनों ही पार्टियों के एक-एक कार्यकर्ता की संदिग्ध हालत में मौत हुई। मृतक बीजेपी कार्यकर्ता का नाम रामेन सिंह है। बीजेपी का आरोप है कि टीएमसी कार्यकर्ताओं ने रामेन सिंह की पीट-पीटकर हत्या कर दी है। उनका शव झारग्राम जिले के चुनसोले गांव से बरामद किया गया।
इसके अलावा मैती नाम के एक टीएमसी कार्यकर्ता की भी हत्या की बात सामने आई है। वह देर रात को किसी रिश्तेदार से मिलने के लिए जा रहे थे मगर वापस घर नहीं लौटे। बाद में उनका शव बरामद किया गया। इसके अलावा रविवार को बीजेपी के 3 कार्यकर्ताओं पर भी हमले हुए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.