Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी

विधवा लड़कियों से शादी करने के फायदे, जानकर आप भी करेंगे विधवा से ही शादी

0

 जानकर आप भी करेंगे विधवा से ही शादी :- हर लडकी का बचपन से ये सपना होता है कि उसकी शादी एक अच्छे परिवार में हो और उसका पति हमेशा उसे खुश रखे. एक लडकी के पैदा होते ही उसके माता पिता को उसकी शादी की चिंता सताने लगती है. लडकी जब बड़ी हो जाती है तो उसका कन्यादान करके उसे किसी और के हाथ में सौंप दिया जाता है. एक ही पल में लडकी पराई हो जाती है. लडकियो के लिए उसका ससुराल ही सबकुछ होता है. कुछ लडकियाँ अपने साथ ऐसी किस्मत लेकर आती है कि वे अपने परिवार के लिए लक्ष्मी साबित होती है. जबकि कुछ एक लडकियों की किस्मत में रोना ही लिखा होता है.

सुनहरा मौका,दिल्ली पुलिस में ट्रैफिक स्टॉफ के विभिन्न पदों पर वेकैंसी – 10th पास जल्द करें आवेदन

सैलरी ₹25000 सुनहरा मौका टाटा कंपनी में निकली है बंपर भर्ती

सैलरी ₹30000 सुनहरा मौका फूडपांडा में 10वीं पास के लिए निकली है 2300 पदों पर भर्ती

कई बार किसी हा-दसे या फिर किसी अनहोनी के चलते किसी महिला का पति चला जाता है. पति के चले जाने के बाद उस स्त्री का पूरा जीवन बेरंग हो जाता है. उस महिला को विधवा के नाम से पुकारा जाता है. अब वर्तमान समय में तो विधवाओं के लिए कई तरह की सुविधाओं का इंतजाम किया गया है जबकि आप पुराने समय की बात सुनोगे तो आपकी आँखों से आंसू निकल आएंगे. उस समय विधवाओं को कई तरह के ताने सुनने को मिलते थे.

एक विधवा स्त्री को अपनी जिन्दगी आगे जीना बहुत मुश्किल हो जाता था. लेकिन आज समय कुछ बदल गया है आज अगर आप एक विधवा स्त्री से शादी करते है तो आपको ऐसे ऐसे फायदे होंगे जो आपने कभी सोचे भी नही होंगे. आज हम आपको बतायेंगे उन्ही कुछ फायदों के बारे में जो आपको एक विधवा से शादी करने के बाद होने वाले है.
Loading...

अगर आप किसी विधवा से शादी करते है तो वह इस बात का ख़ास ध्यान रखेगी कि आप खुश रहे. उसे इस बात का एहसास होगा कि आपके जाने के बाद उसका जीवन कैसा होने वाला है. इसलिए वह नई नवेली दुल्हन की तरह आप से लड़ाई झगड़ा नही करेगी. वह आपकी हर बात का आदर करेगी.

वह आपके हर सुख दुःख में आपका साथ देगी. जब आपके साथ कोई खड़ा नही होगा वह आपकी ढाल बनकर खड़ी रहेगी. एक विधवा स्त्री इस बात को अच्छे से समझती है कि उसके लिए उसका पति क्या है और वह अपनी शादी को और ज्यादा अच्छा बनाने पर ध्यान देती है. वह ऐसा कोई काम नही करती है जिससे उसके पति का सर नीचे हो या फिर उसे बुरा लगे.

विधवा स्त्री के जीवन में जब कभी भी दुःख या मुसी’बत आती है तो वह अपना पुराना समय याद करके रोने नही बैठती है बल्कि उस स्थिति का डटकर सामना करती है. इस तरह का साहस केवल एक विधवा स्त्री ही दिखा सकती है. वह अपने पुरे परिवार के लिए ढाल बनकर आगे खड़ी रहती है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.