समुद्रशास्त्र के अनुसार हाथ की लकीरों का कुछ खास महत्व होता है लेकिन वहीं कुछ लकीरें ऐसे भी आपकी हाथों में होते हैं जो आपको बहुत भाग्यशाली बना देते हैं तो कुछ दुर्भाग्यशाली। वहीं अगर बात करें हाथों में बने त्रिशूल और चक्र के निशान की तो ये काफी कम लोगों में ही पाए जाते हैं। शास्‍त्रों में माना गया है कि जिनकी हाथों में ऐसे निशान होते हैं वो पिछले जन्म में अच्छे कर्म किये होते हैं और इस जीवन में इनपर भगवान श‌िव और भगवान व‌िष्‍णु की कृपा हमेशा ही बनी रहती है।

आपको बता दें कि हमारे शास्‍त्रों में

हस्तरेखा विज्ञान जो कि ज्योतिष विद्या का ही हिस्‍सा है ये एक ऐसी विद्या है जिसके द्वारा हम किसी भी व्‍यक्ति का भविष्य साफ साफ देख सकते हैं भी ज्योतिष विद्या का एक रूप है। हस्तरेखा विज्ञान की जानकारी जिसे होती है वो आपके भविष्‍य के बारे में बता सकता है लेकिन हां ये सबके बस की बात नहीं होती है क्‍योंकि इसे समझना काफी मुश्किल होता है।

Image result for trishul in hand

शास्‍त्रों में कहा गया है कि हथेली में

त्रिशूल के निशान होने से जीवन समृद्ध, सुखी और भाग्यशाली होता है। जिसके हाथ में त्रिशूल होने के अलग-अलग प्रभाव है। मसलन अनामिका के नीचे सूर्य रेखा के अंत में त्रिशूल होना राजयोगी बनाता है उससे नाम, धन और सांसारिक भोगों की प्राप्ति होती है वहीँ तर्जनी के नीचे गुरु पर्वत पर जाने वाली हृदय रेखा के आखिर में निशान होने से जीवन में कभी किसी चीज की कमी नहीं रहती है। मान्‍यता ये भी है कि सपने में अगर त्रिशूल दिखाई दें तो काम में सफलता की संभावना बढ़ जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here