6

अगर आप का बाथरूम वास्तु दोष से प्रभावित होगा तो इसका सीधा असर आपकी सेहत पर भी पड़ सकता है। घर मैं तंगी बनी रहती है। इसलिए घर बनवाते समय बाथरूम के वास्तु दोष का विशेष तौर पर ध्यान रखना चाहिए।

दरवाजा रखे बंद

आज कल का फैशन चल गया है कि लोग अपने घरों में बाथरूम और टॉयलेट एक साथ अटैच कराकर बनवाते हैं। ऐसे में बाथरूम का प्रयोग करने के बाद उसका दरवाजा बंद करना ना भूले, नहीं तो उसकी दुर्गंध पूरे घर में फैल जाएगी और इससे नकारात्मक उर्जा प्रवेश करती है।

साफ सफाई का रखें पूरा ध्यान

हमेशा अपने बाथरूम को साफ स्वच्छ रखें अगर बाथरूम में गंदगी रहेगी तो नकारात्मक उर्जा का पहनना जायज है बाथरूम की दुर्गंध गंदगी को अंदर ना रहने के लिए इसके अलावा बाथरूम की हवा इसके अंदर ना घुटे। इसलिए बाथरूम में एग्जास्ट फैन जरूर लगवाएं ताकि बाथरूम की दुर्गंध हवा के रूप में बाहर निकल जाए। इससे नकारात्मक उर्जा भी बाहर चली जाएगी।

इस दिशा में लगवाए शावर

बाथरूम बनाते समय इस बात का जरूर ध्यान रखें की तबियत सागर उत्तर दिशा की ओर होना चाहिए। दक्षिण दिशा में भूलकर भी ना बनवाएं ऐसा अच्छा नहीं माना जाता है।

शीशा दरवाजे के पीछे लगवाएं

बाथरूम में शीशा का होना बहुत जरूरी होता है लेकिन वास्तु के अनुसार बाथरूम में शीशा दरवाजे के पीछे लगवाना चाहिए। साथ ही अपने घर की सीढ़ियों के नीचे विद टॉयलेट या बाथरूम ना बनवाए इसे अच्छा नहीं माना जाता है।

मेन गेट के सामने नहीं होना चाहिए बाथरूम

मुख्य द्वार के ठीक सामने कभी टॉयलेट का बाथरूम ना बनवाएं ऐसा शुभ नहीं कहा गया है। इसे घर में आर्थिक स्थिति खराब रहती है और घर के सदस्यों की सेहत पर भी बुरा असर पड़ता है।

(इसलिए इसमें सभी दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित है अमल करने से पहले विशेषज्ञ से संपर्क करें)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here