7

आज अमित शाह अरुण जेटली स्टेडियम जिसका नाम कभी फिरोजशाह कोटला स्टेडियम हुआ करता था उसमे जेटली जी की मूर्ती का अनावरण करने के लिए पहुंचे थे और उस दौरान उन्होंने लोगो को संबोधित भी किया. इसी संबोधन के दौरान ही अरुण जेटली ने बताया कि अरुण जेटली ही वो व्यक्ति थे जिन्होंने उनको जब भी संकट में पड़ते थे तब उनको बचाया, कोई उलझन में होते थे तो उनकी मदद की और आगे बढ़ने के लिए एक दोस्त की तरह मार्गदर्शक भी बने थे.

माना जाता है कि केंद्र में वो अरुण जेटली ही नेता था जिन्होंने पीएम मोदी और अमित शाह के लिए केंद्र तक आने का रास्ता साफ़ किया और उनके हाथ में भाजपा की कमान आ सकी.

वरना ये सब उनके लिए इतना आसान होता नही, पर जेटली जी ने चीजे उनके लिए काफी अधिक आसान बना दी और वो इस कारण से काफी अधिक खुश से भी नजर आते थे.

उनके जाने के बाद में बीजेपी को वाकई में उनकी कमी खलती है क्योंकि उनके रहते हुए न सिर्फ पार्टी ने बल्कि मोदी सरकार ने भी काफी अच्छी खासी प्रगति की थी और लोग इस पर उनको अलग अलग तरह से कहते है, उनके लिए अपनी तरफ से बाते भी रखते है और काफी कुछ कहते हुए नजर भी आते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here