10

उदयन के मुताबिक, उसे ऐसा आइडिया इंग्लिश चैनल पर वॉकिंग डेथ नाम के सीरियल से आया था। उदयन ने अकांक्षा को मौत के घाट उतारकर उसकी लाश को बॉक्स में डाल दिया और कमरे में ही एक चबूतरा बना दिया। चबूतरे के ऊपर आरोपी ने फांसी का फंदा भी लटकाया था खुद को खत्म करने के लिए, लेकिन हिम्मत नहीं जुटा पाया था। उदयन ने ऐसा सिर्फ अकांक्षा के साथ ही नहीं बल्कि अपने माता-पिता के साथ भी यही किया था। उसने उन्हें भी मारकर बगीचे में दफना दिया था जिसका केस झारखंड में चल रहा है।

डेडबॉडी बॉक्स में डालकर बनाया चबूतरा
जानकारी के मुताबिक, अकांक्षा की हत्या से 10 महीने पहले ही दोनों सोशल मीडिया पर मिले थे। इसके बाद दोनों भोपाल में लिविंग में रहने लगे। एक रोज दोनों के बीच लड़ाई हुई और अकांक्षा सो गई लेकिन उदयन रात भर जागकर अकांक्षा को मारने के बारे में सोचता रहा। सुबह होते ही उसने अकांक्षा का मुंह तकिया से दबाकर मार डाला। जब इससे भी मन नहीं भरा तो हाथ से गला दबाया। फिर घर में रखे बॉक्स में भरकर उसमें सीमेंट डाल दिया और चबूतरा बना दिया। उदयन के मुताबिक, अकांक्षा लड़कों से अक्सर बात किया करती थी, जिसकी वजह से उसने ऐसा कदम उठाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here