तहरीक उल मुजाहिदीन के पूर्व प्रमुख और जमीयत-ए-अहली हदीस नेता शौकत शाह की हत्या मामले के आरोपी अब्दुल गनी डार का शव बृहस्पतिवार को एक मस्जिद में मिला।

आतंकी संगठन तहरीक उल मुजाहिदी का प्रमुख रह चुका है डार

बडगाम जिले के बीरवाह के रहनेवाले अब्दुल गनी डार मैसूमा के जमीयत-ए-अहली हदीस मस्जिद में मृत मिला । डार 1990 में आतंकवादी संगठन तहरीक-उल-मुजाहिदीन का प्रमुख रह चुका है। पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि दोपहर में मैसूमा में मस्जिद के भीतर एक व्यक्ति की हत्या की सूचना मिली। इसके बाद वरिष्ठ अधिकारी ने अपराध स्थल का दौरा किया और व्यक्ति के शव को अपने कब्जे में लिया। प्रवक्ता ने बताया, ‘‘ मृतक की पहचान अब्दुल गनी डार उर्फ गनी गजाली के रूप में हुई है। जिसकी उम्र 80 साल है।’’

शौकत शाह की हत्या का आरोपी डार जमानत पर था

पुलिस अधिकारी ने बताया कि डार के सिर पर चोटों के दो निशान हैं। पुलिस मस्जिद के आस-पास लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच कर रही है ताकि यह स्थापित किया जाए कि क्या उनकी हत्या हुई है । जमीयत-ए-अहली हदीस के प्रमुख मौलाना शौकत शाह की मौत मस्जिद के बाहर शुक्रवार की नमाज से पहले आठ अप्रैल, 2011 में हो गई थी। डार इस हत्या मामले में सह आरोपी था और अभी जमानत पर चल रहा था ।

प्रवक्ता ने बताया कि अपराध स्थल पर फोटोग्राफी और वीडियो रिकॉर्डिग हुआ है और घटनास्थल पर एक फॉरेंसिक टीम बुलाई गई है। उन्होंने कहा, ‘‘ परिसर में गहन तलाशी हुई है और वह समुदाय को आश्वस्त करते हैं कि निष्पक्ष और पेशेवर तरीके से तेजी से जांच होगी।’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here