6
ज्योतिष शास्त्र में राहु ग्रह को एक अशुभ और पापी ग्रह माना गया है | वैसे अन्य ग्रहो को देखे तो केतु और राहु का कोई वास्तविक आकार नहीं है | इसी वजह से इसे छाया ग्रह भी कहा जाता है | जब भी राहु का नाम लिया जाता हैं, तो लोगो में एक अलग ही भय  देखने को मिलता है | जबकि ज्योतिष में बताया गया है कि कोई ग्रह शुभ या अशुभ नहीं होता है | उसका फल शुभ या अशुभ होता है |
कुंडली में शुभ स्थान पर होने पर राहु शुभ फल देता है, वहीँ अशुभ स्थिति में होने पर अशुभ फल भी देता है | इस अशुभ प्रभाव से जीवन में परेशानियां उत्पन्न होने लगती है | कार्यो में विपरीत परिणाम मिलने लगते है | ऐसे में अशुभ प्रभाव के कुछ संकेत भी दिखाई देने लगते है | आज हम आपको उन्ही संकेतो के बारे में बताने जा रहे है |
यदि किसी जातक को बार बार मरा हुआ सांप या मरी हुयी छिपकली दिखाई दे रही है, तो ये जातक की कुंडली में राहु के कमजोर होने का संकेत है | इसके चलते जातक को अशुभ परिणाम झेलने के लिए तैयार रहना चाहिए |
  • यदि अचानक ही आप बाते भूलने लगे है | आपको लगने लगा है कि आपकी याददाश्त कमजोर हो रही है | तो ये एक अशुभ संकेत है | ये राहु की खराब स्थिति को दर्शाता है | ऐसे में आपको राहु की शांति के उपाय करने चाहिए |
  • यदि परिवार के सदस्यों में अचानक वाद विवाद होने लगा है | मनमुटाव की स्थिति रहने लगी है, तो समझ ले कि राहु अशुभ स्थिति में है | इसकी वजह से ही आपके परिवार में कलह पैदा हो रहा है |
  • सिर के बल अचानक ही झड़ने लगे है और नाख़ून टूट रहे है, तो ये राहु की अशुभ स्थिति का संकेत है | इसके लिए आपको तुरंत राहु की शांति के लिए उपाय करने चाहिए |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here