10

देश में जब कोरोना ने रफ़्तार पकड़ना शुरू ही किया था तो पीएम नरेंद्र मोदी ने देश को आत्मनिर्भर बनाने पर जोर देना शुरू कर दिया था। जिसके बाद चीन के साथ बढ़े तनाव के बाद देश में चीनी प्रोडक्ट का विरोध शुरू हुआ और लोगों ने चीनी प्रोडक्ट का बॉयकॉट करना शुरू कर दिया। सीमा पर चीन ने जैसे ही भारत को आंख दिखाने की गलती की, मोदी सरकार द्वारा तुरंत चीन को जवाब देते हुए सीमा पर तो ताकत दिखाई ही लेकिन देश के भीतर भी कई ऐसे बड़े फैसले किए गए जिसके बाद चीन को बड़ा आर्थिक नुकसान हुआ।

भारत के राज्यों में चीनी कंपनिया हज़ारो करोड़ों के प्रोजेक्ट्स में काम रही है, जिन्हे तनाव के बीच तुरंत बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। वहीं अब खबर जो सामने आ रही है उससे चीन को बड़ा झटका लगेगा। मोदी सरकार चीन से आयात हो रहे कई डेली इतेमाल के प्रोडक्ट्स पर अब भारी टैक्स लगाने की तैयारी कर चुकी है। जो अगले 5 वर्ष तक के लिए लागू रहेंगे। इस बीच चीन से आयात होने वाले प्रोडक्ट पर पाबंदी लगाने के लिए सरकार इन्हें 2 कैटेगरी में बांटा है।

इन प्रोडक्ट्स को दो कैटेगरी में बांटने के साथ सरकार ने इनके लिए अलग अलग रणनीति बनाने पर भी काम कर रही है। इसमें पहली कैटेगरी में वो चीनी प्रोडक्ट्स होंगे जो कम कीमत के होंगे लेकिन ज्यादा वाल्यूम वाले हैं जो रोजमर्रा में जीवन में ज्यादा उपयोग होते हैं। वहीं सरकार दूसरी कैटेगरी के प्रोडक्ट्स पर अभी फ़िलहाल कोई फैसला नहीं किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here