12

आचार्य चाणक्य एक कुशल राजनीतिज्ञ थे | राजनीति और अपनी शानदार नीतियों की वजह से ही वो कौटिल्य भी कहलाये | चाणक्य ने अपनी चाणक्य नीति में कुछ ऐसी बातो का वर्णन किया था, जो अगर जीवन में अपना ली जाए तो जीवन को बदला जा सकता है | चाणक्य ने जीवन से जुडी कई नीतियों का वर्णन किया है, इनमे से कुछ नीतियां ऐसी है, जो पुरुष के लिए बताई गयी है | आज हम आपको उन्ही नीतियों के बारे में बताने जा रहे है, तो आइये जानते है, आज की इस पोस्ट में आपके लिए क्या ख़ास है |

स्त्री का चरित्र रखे अपने तक
एक समझदार पुरुष को कभी भी अपनी पत्नी के चरित्र या उसके व्यवहार के बारे में किसी को नहीं बताना चाहिए | एक सुखी वैवाहिक जीवन के लिए पत्नी के अच्छे या बुरे चरित्र को अपने तक ही रखना चाहिए | यदि पत्नी का चरित्र सही नहीं है तो भूलकर भी किसी के सामने इसका बखान ना करे, ये आपकी पत्नी के साथ साथ आपकी बदनामी का भी कारण बनता है |
कभी ना बताये अपनी आय
आपने देखा होगा, अक्सर कहा जाता है कि कभी महिला से उसकी उम्र नहीं पूछनी चाहिए, उसी प्रकार कभी भी पुरुष से उसकी सैलरी नहीं पूछनी चाहिए | कभी बार इसे अशिष्ट मान लिया जाता है, क्योंकि अक्सर समाज में लोगो को ये देखकर तवज्जो दी जाती है की उसकी सैलरी कितनी है, ऐसे में कई बार ऐसे सवाल सामने वाले को असहज कर देते है |
अपना नुकसान/घाटा रखे अपने तक
यदि कभी भी व्यापार में नुकसान की या घाटे की स्थिति बनी हुयी है और आपको ही नुकसान झेलना पड़ रहा है, तो कभी भी इसका जिक्र अपने मित्र, रिश्तेदार से ना करे | क्योंकि आपकी ऐसी स्थिति में आपकी कोई मदद नहीं करेगा | मुसीबत में सभी अपने हाथ खींच लेते है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here