हथेली की रेखाओ हमारे जीवन पर बड़ा असर पड़ता है | ये रेखाएं हमारे जीवन के भूत, भविष्य और वर्तमान के बारे में बहुत कुछ कहती है | हस्तरेखा शास्त्र में जीवनरेखा के बारे में बताया गया है की जीवनरेखा के निकास का प्रभाव व्यक्ति की किस्मत पर पड़ता है | आज हम आपको जीवनरेखा के भिन्न भिन्न योग और उसके प्रभावों के बारे में बताने जा रहे है |

जीवन रेखा निकले गुरु पर्वत से
जिन लोगो के हाथ में जीवनरेखा गुरु पर्वत से शुरू होती है | वे व्यक्ति उच्च विचारो और स्वतंत्र किस्म के होते है | इन लोगो के दुसरो के मामलो में दखल देना पसंद नहीं होता है | स्वतंत्र विचारो के चलते अक्सर परिवार से भी मतभेद चलते रहते है |
मंगल पर्वत से निकले जीवन रेखा
 
 
जिन लोगो की हथेली में जीवन रेखा मंगल पर्वत से निकलती है, उनका जीवन मिलेजुले प्रभाव का होता है | अर्थात उनके जीवन में सुख और दुःख का आना जाना लगा रहता है | कई बार इनका शंकालु और चिड़चिड़ा स्वभाव भी देखने को मिलता है | ऐसे कई लोग लालची भी होते है |
मंगल और गुरु के बीच से निकले जीवन रेखा
 
 
यदि किसी की जीवन रेखा मंगल और गुरु के बीच से उदय होती है, तो इन पर मंगल और गुरु दोनों का ही प्रभाव देखने को मिलता है | ये स्वभाव से शांत होते है | ये हर कार्य को बड़ी निपुणता से कर लेते है, इसी वजह से ये शीघ्र उन्नति प्राप्त कर लेते है |
शुक्र या चंद्र से निकले जीवन रेखा
 
 
यदि किसी की जीवन रेखा शुक्र या चंद्र या फिर इन दोनों के बीच में समाप्त होती है, तो इन्हे अपने जीवन में सामान्य फल प्राप्त होता है | इनका जीवन तो आराम से कटता है, लेकिन ये अपने जीवन में कोई बड़ा मुकाम हासिल नहीं कर पाते है |
चंद्र पर अंत हो जीवन रेखा
 
 
जिन लोगो की जीवनरेखा चंद्र पर्वत पर अंत होती है, वे काफी भाग्यशाली होते है | इन लोगो को अपने जीवन में हर सुख की प्राप्ति होती है | ये अपने बुद्धिमता और चातुर्य के चलते कम समय में ही सफलता प्राप्त कर लेते है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here