6

छींक(Sneeze) को लेकर कई लोग तरह-तरह की बातें करते हैं। किसी भी काम के पहले अगर कोई व्यक्ति सीख देता है तो कहां जाता है कुछ अशुभ होने वाला है। ऐसी मान्यताएं काफी पुराने समय से चली आ रही है। लोगों का मानना है कि ऐसे में छींक आने का मतलब है खराब संकेत मिलने वाले हैं। लेकिन कुछ ऐसे मौके भी हैं कि जब हमें ठीक आती है तो वह संकेत अशुभ ना होकर शुभ होता है। आज हम आपको कुछ ऐसे ही छींक से संबंधित बातें बताएंगे।

इन मौकों पर छींक आना होता है अशुभ

  • जब कोई महिला किचन में दूध गर्म कर रही हो और इसी बीच उसे छींक आ जाए तो कहां जाता है कि यह बहुत अशुभ होता है। ऐसा कहां गया है कि ऐसा होने पर परिवार के किसी सदस्य की तबीयत खराब होने वाली है।
  • जब कोई किसी यात्रा पर निकलता है या घर से कहीं जाता है। ऐसे समय पर छींक आने पर कहा जाता है कि यात्रा अच्छी नहीं होगी। कोई ना कोई अड़चन आने का संकेत होता है। आप जिस कार्य के लिए घर से निकले हैं। उस कार्य में आपको सफलता मिल सकती है।
  • यदि घर से निकलते हुए बाहर या रास्ते में कुत्ता छींक दे तो कहां दया है कि या किसी संकट के आने का संकेत है। ऐसा भी कहा गया है यदि कुत्ता एक से ज्यादा बार छींक दे तो आने वाला संकट टल जाता है।
  • किसी अच्छे काम के लिए जाते समय यदि कोई छींक दे तो वह कार्य अच्छा नहीं होता है। यह अशुभ माना गया है।

इन मौकों पर छींक का संकेत होता है शुभ

  • ऐसा कहां गया है यदि कोई व्यक्ति श्मशान घाट या किसी दुर्घटना स्थल पर छींक दे तो इसका मतलब होता है कि कुछ शुभ होने वाला है।
  • यदि कोई आपदा या महामारी की खबर मिलने पर उस समय इंसान या कोई जीव जंतु छींक दे तो यह भी शुभ होने का संकेत होता है इसका मतलब होता है कि यदि आपका खराब समय आने वाला है तो वह टल जाएगा।
  • यदि आप किसी अच्छे कार्य के लिए जा रहे हैं और तब गाय का बछड़ा छींक दे तो वह कार्य निश्चित रूप से सफल होगा छींक आना इस बात का ही संकेत होता है। साथ ही आपके पास पैसा आने का भी संकेत होता है।
  • यदि आप किसी के चोट आदि में दवा लगा रहे हैं और छींक आने पर वह दवा गिर जाए तो कहा जाता है कि आप उस बीमारी से जल्द से जल्द मुक्त होने वाले हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here