8

मध्य प्रदेश के छतरपुर (Chhatarpur) में में ऑनलाइन गेम (Online game) खेलना एक नाबालिग को महंगा पड़ गया। कथित तौर पर ऑनलाइन गेम खेलने के दौरान 40 हजार रुपए गंवाने के बाद 13 वर्ष के छठी कक्षा के छात्र ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। डीएसपी शशांक जैन ने बताया है कि शुक्रवार दोपहर में छात्र ने अपने घर में फांसी लगातार सुसाइड कर ली। मौके से एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमे छात्र ने लिखा है कि उसने अपनी मां के बैंक खाते से 40 हज़ार रुपए निकाले थे और वो इसे पैसे से ऑनलाइन गेम ‘फ्री फायर’ (Free Fire) फायर खेला और पैसे बर्बाद कर दिए। मां से माफ़ी मांगते हुए छात्र ने लिखा है कि डिप्रेशन की वजह से वो सुसाइड कर रहा है।

छात्र ने यह खौफनाक कदम तब उठाया जब वो घर में अकेला था। माता-पिता घर में मौजूद नहीं थे। मृतक की मां स्वास्थ्य विभाग में नर्स हैं, जो घटना के समय अस्पताल में थीं। पुलिस ने बताया है कि छात्र द्वारा जब मां के बैंक खाते से लेन देन किया गया था तो उनके मोबाइल पर एसएमएस आया, जिसके बाद मां ने अपने बेटे को डांट लगाई थी। छात्र ने इसके बाद खुद को कमरे में बंद कर दिया था। कुछ देर बाद जब छात्र की बड़ी बहन ने कमरे का दरवाजा खटखटाया तो कमरा अंदर से बंद था, जिसके बाद उसने इसकी जानकारी माता-पिता को फ़ोन पर भी दी।

कुछ देर बाद भी जब कमरे का दरवाजा नहीं खुला तो दरवाजा तोड़ा दिया, जिसके बाद जो अंदर दिखा उसे देखकर परिवार सन्न रह गया। छात्र का शव पंखे से लटका हुआ था। उसे तुरंत पंखे से नीचे उतारकर अस्पताल ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस फिलहाल मामले की जांच कर रही थी। पुलिस जानना चाहती है कि छात्र खुद ऑनलाइन गेम में पैसे लगाकर खेल रहा था या फिर उसे कोई धमकाकर ऐसा करवा रहा था। गौरतलब है कि ठीक ऐसा ही मामला मध्य प्रदेश के सागर जिले के ढाना कस्बे जनवरी महीने में सामने आया था। ‘फ्री फायर’ गेम खेलने वाले लड़के से जब उसके पिता ने मोबाइल फ़ोन छीन लिया था तो गुस्से में आए 12 वर्षीय छात्र ने कथित तौर पर सुसाइड कर ली थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here