12
वास्तु शास्त्र में दो प्रकार की ऊर्जा के बारे में बताया गया है | सकारात्मक ऊर्जा और नकारात्मक ऊर्जा | ये दोनों ही प्रकार की ऊर्जा हमारे जीवन पर गहरा असर डालती है | घर में रखे सामान से लेकर आप खुद भी इस ऊर्जा के वाहक होते है | वास्तु में कुछ ऐसी वस्तुओ के बारे में बताया गया है, जिन्हे किसी को देने से पहले एक बार सोच विचार कर लेना चाहिए | वहीं कुछ ऐसी चीजे भी बताई गयी है, जिनका किसी से उधार लेना | हमारे जीवन में अव्यवस्ता ला सकता है |
वास्तु शास्त्र कहता है कि कभी भूलकर भी दुसरो के कपडे नहीं पहनने चाहिए | इससे उनकी नकारात्मक ऊर्जा हमारे अंदर आने लगती है | इसके अलावा किसी शुभ काम के लिए जा रहे है, तो दुसरो के कपडे कतई ना पहने | ये दुर्भाग्य लाता है और बनते काम भी बिगड़ने लगते है | इसीलिए दुसरो के कपड़ो से दूरी बनाकर रखे |
वास्तु के अनुसार शंख माँ लक्ष्मी का प्रतीक है | इसीलिए पूजा पाठ के लिए अपने घर का शंख किसी को ना दे | माना जाता है कि शंख किसी को देना अपने घर की सम्पति देने के सामान है | इससे माँ लक्ष्मी रुष्ट होती है | लेकिन यदि कभी आपको किसी को शंख देना पड़ जाए तो दोबारा प्रयोग करने से पहले इसे गंगाजल से शुद्ध कर ले |
कभी किसी से पेन या कलम ले तो तुरंत वापस कर दे | अक्सर कई लोग कलम लेते है, लेकिन वापस नहीं करते | इससे आर्थिक समस्याएं उत्पन्न होने लगती है, धन हानि होने लगती है | इसीलिए कभी भी किसी से पेन या कलम ले तो तुरंत वापस कर दे |
वास्तुशास्त्र के अनुसार कभी किसी का बैडरूम इस्तेमाल नहीं करना चाहिए | वास्तु के अनुसार इससे दोष पैदा होता है और मानसिक तनाव बढ़ने लगता है | इसकी वजह से कर्ज बढ़ने लगता है | ऑफिस में वाद विवाद की स्थिति पैदा होने लगती है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here