12
वास्तु शास्त्र में दिशाओ का बड़ा महत्व बताया गया है, क्योंकि हर दिशा के दिग्पाल होते है | वैसे देखा जाए तो वास्तु शास्त्र दिशाओ पर ही आधारित है | वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि किसी भी कार्य को दिशा के अनुसार करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है | वास्तु में भोजन करने को लेकर भी दिशा निर्धारित की गयी है और इससे जुडी बाते बताई गयी है | वास्तु कहता है कि इन चीजों की अनदेखी करना आपकी परेशानियों की वजह बन सकता है | आज आपके लिए इसी से जुडी कुछ जानकारियां लेकर आये है, तो चलिए जानते है कि किस दिशा की ओर मुख करके भोजन करने से शुभ फल प्राप्त होता है |
ज्योतिष के अनुसार यदि किसी जातक की कुंडली में मारक ग्रह हो, तो उसकी अचानक मृत्यु की सम्भावना होती है | ऐसी स्थिति में जातक को पूर्व दिशा की ओर मुख करके भोजन करना चाहिए | इससे जातक की सेहत और आयु में वृद्धि होती है |
यदि आप या आपके परिवार का कोई व्यक्ति हर समय किसी न किसी बीमारी से घिरा रहता है, तो ऐसे जातक को पश्चिम दिशा की ओर मुख करके भोजन करना चाहिए | वास्तु के अनुसार इससे रोगो से मुक्ति मिलती है और सेहत तंदुरुस्त रहती है |
यदि आप धन संबंधी परेशानियों से गुजर रहे है या आप चाहकर भी धन की बचत नहीं कर पा रहे है, तो आप उत्तर दिशा की ओर मुख करके भोजन करे | उत्तर दिशा कुबेर देवता की दिशा होती है, ऐसे में आप पर उनकी कृपा बनेगी |
वास्तु शास्त्र में दक्षिण दिशा में मुख करके भोजन करना अशुभ माना गया है | दरअसल ये दिशा यम की दिशा मानी गयी है, जिस वजह से इस दिशा में भोजन करने से नकारात्मकता बढ़ती है | साथ ही कई अन्य परेशानियां उत्पन्न होती है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here