दरअसल खगोलविदों से मिली जानकारी के मुताबिक 29 अप्रैल को ब्रह्मांड में एक अजीब घटना होने वाली है. जो पृथ्वी के अस्तित्व पर हावी हो सकती है. जानकारी के मुताबिक खगोलीय पिंड सुबह 4 बजकर 56 मिनट पर 31320 प्रति घंटे की रफ्तार से पृथ्वी के पास से गुजरने वाला है. बात करें पिंड की तो ये पिंड 4.1 किलोमीटर (व्यास) जितना चौड़ा है. ऐसे में यदि ये पृथ्वी के करीब पहुंचता है तो पूरे ब्रम्हांड में तबाही मच सकती है. लेकिन अभी इसकी दूरी इतनी ज्यादा है कि अभी कोई खतरे की वजह नहीं नजर आ रही है. साथ ही आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस बात का दावा खुद नासा ने किया है.

आपको बता दें कि अमेरिका की अंतरिक्ष शोध अनुसंधान एजेंसी यानी नासा को इस पिंड के बारे में वर्ष 1998 में ही पता लग गया था. उसी समय से वैज्ञानिक इस पर लगातार शोध कर रहे हैं. आपको बता दें कि वैज्ञानिकों ने इस पिंड का नाम 52768 और 1998 ओआर-2 रखा है. इस बारे में वीर बहादुर सिंह नक्षत्रशाला के खगोलविद से मिली जानकारी के अनुसार इस खगोलीय घटना को टेलीस्कोप के जरिए देखा जा सकता है. बताया जा रहा है कि ये घटना 29 अप्रैल को होने वाली है. जिसकी दूरी पृथ्वी से 3.9 मिलियन माइल्स की है. फिलहाल ये दूरी खगोलीय आंकडों के अनुसार काफी कम है. फिलहाल इसके बारे में ये भी कहा जा रहा है कि पिंड आज से करीब 59 साल बाद यानी साल 2079 में दोबारा पृथ्वी के करीब आएगा. उस समय इस पिंड से पृथ्वी को बड़ा खतरा हो सकता है. इसके पीछे की वजह ये है कि तब धरती से इसकी दूरी मात्र एक मिलियन माइल्स की होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here