16

यहां एक एम्बुलेंस चालक ने कथित तौर पर कोरोना संक्रमित महिला से दुष्कर्म किया है। सूचना मिलने पर पुलिस ने कुछ ही घंटों में एम्बुलेंस चालक को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस के मुताबिक एक परिवार की दो महिलाओं में शनिवार शाम को कोरोना का टेस्ट पॉजिटिव आया था। इन्हीं मरीजों को अस्पताल में भर्ती कराने के लिए आधी रात के करीब एम्बुलेंस आई और एक मरीज को स्थानीय, कोविड -19 अस्पताल में भर्ती कराने के बाद एम्बुलेंस सुविधा के अधिकारियों ने चालक को दूसरे मरीज को दूसरे अस्पताल में ले जाने की सलाह दी।

अस्पताल जाते समय चालक ने एम्बुलेंस को एक शांत जगह पर रोक दिया और वाहन के अंदर 22 वर्षीय मरीज के साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद चालक ने पीड़िता को दुष्कर्म की बात किसी करने पर गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी देते हुए अस्पताल पहुंचाया। महिला ने अस्पताल में भर्ती होने के बाद डॉक्टरों को घटना के बारे में बताया। इस पर डॉक्टरों ने एक मेडिकल जांच किया जिसमें यौन शोषण की पुष्टि हुई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने जांच में पाया कि आरोपी (29) हत्या के प्रयास सहित कई आपराधिक मामलों में भी संलिप्त है।

इस मामले में स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि ड्राइवर को अस्थायी तौर पर नौकरी पर रखा गया था। विभाग की तरफ से यह जांच की जा रही है कि उसे नौकरी कैसे मिली। वहीं स्वास्थ्य अधिकारियों ने सख्त निर्देश देते हुए कहा है कि हर एम्बुलेंस में कम से कम दो कर्मचारी होने चाहिए। एम्बुलेंस पर विशेष ध्यान रखना होगा, जब एम्बुलेंस में सवार केवल महिला रोगी हो। कोरोना संकट के बीच ऐसी कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं जिसमें कोरोना योद्धाओं ने अपना मुंह काला करते हुए डॉक्टरी पेशे तक को कलंकित किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here