8
वास्तु शास्त्र से तो आप सभी अवगत होंगे | एक सुख शांति भरा जीवन जीने के लिए घर में वास्तु का सही स्थिति में होना बहुत ही आवश्यक है | वास्तु में बताया गया है कि हम जिस स्थान पर रहते है, उस स्थान पर मौजूद अच्छी-बुरी या शुभ-अशुभ ऊर्जा का हमारे भविष्य और वर्तमान पर बड़ा प्रभाव पड़ता है |
ऐसे में यदि हमारा घर गलत स्थान पर बना हो या वास्तु के अनुकूल ना बना हो तो जीवन में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है | इसीलिए घर का सही स्थान पर होना अत्यंत आवश्यक है | यदि आपका घर किसी चौराहे या तिराहे के सामने या नजदीक बना है, तो साफ़ है कि ये आपके जीवन में आ रही परेशानियों का कारण बनेगा | ऐसे में आज हम आपको ऐसे मकान में रहने से होने वाले नुकसानों से अवगत करवाने जा रहे है |
चौराहे के निकट निर्मित मकान के नुकसान
 
  • वास्तु के अनुसार चौराहे के निकट बना मकान वास्तु दोष लिए होता है | और ये वास्तु दोष नकारात्मकता का कारण बनता है |
  • तंत्र शास्त्र में तीन गुण बताये गए है, रजोगुण, सतोगुण और तमोगुण | चौराहे के निकट बना मकान तमोगुण लिए होता है | बता दे तमोगुण के कारण आलस, भ्रम और सुस्ती बनी रहती है |
  • चौराहे पर मकान बने होने की वजह से हर समय वाहनों का आवागमन लगा रहता है | जिस वजह से शांति में व्यवधान बना रहता है और मानसिक अशांति बढ़ती है |
तिराहे के निकट निर्मित मकान के नुकसान
 
  • तिराहे के निकट बना मकान, चौराहे के निकट बने मकान के मुकाबले अधिक भयानक वास्तु दोष निर्मित करता है |
  • ऐसे मकान में रहने वाले सभी सदस्यों को मानसिक अशांति का सामना करना पड़ता है |
  • ऐसे मकान में रहने वाली महिलाओ पर इसका सबसे अधिक बुरा प्रभाव पड़ता है | उन्हें गंभीर रोग घेर लेते है |
  • ऐसे मकान में रहने वालो को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ता है, क्योंकि मकान के कुप्रभाव के कारण घर में कभी धन नहीं टिक पाता है |
  • इसके अलावा ऐसे मकान में गृह कलेश की समस्या रोजाना की बात हो जाती है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here