क्या है सफेद दाग (Safed Daag)

पांचवी 7वीं 8वीं 12वीं पास के लिए गवर्नमेंट सेक्टर में जबरदस्त भर्तियां अभी करें आवेदन

प्राइवेट सेक्टर में निकली है बंपर भर्ती विभिन्न पदों पर जल्दी करें आवेदन

सफेद दाग त्वचा से जुड़ी एक बीमारी है जिसे ल्यूकोडर्मा और विटिलिगो के नाम से भी जाना जाता है। इसके कारण शरीर में रंग बनाने वाली कोशिकाएं धीरे-धीरे खत्म होने लगती हैं। त्वचा पर जगह-जगह सफेद दाग-धब्बे पड़ जाते हैं। कुछ मरीज़ों में सिर्फ एक ही दाग दिखायी देता है।यह रोग देखते-ही-देखते पूरे शरीर में फैल जाता है। इस रोग से न तो कोई दर्द होता है और ना ही यह रोग दूसरों में फैलता है। यह रोग व्यक्ति को मन-ही-मन दुःखी कर सकता है, खासकर तब, जब यह चेहरे पर फैल गया हो। आज वि‍श्‍व में लगभग 2 प्रति‍शत की आबादी इस रोग से प्रभावि‍त हैं, लेकि‍न भारत में तो और भी ज्यादा लगभग चार प्रतिशत लोग इस रोग से ग्रसित है ।

 

सफेद दाग होने के मुख्य कारण

वैसे अभी तक सफेद दाग कैसे होते हैं इस बात की कोई पुख्ता जानकारी नहीं मिल पाई है। लेकिन कुछ आयुर्वेदाचार्य के अनुसार शरीर के अंदर अधिक मात्रा में खट्टी चीजें पहुंचने के बाद लगातार दूध या आम का सेवन किया जाए तो सफेद दाग की समस्या हो जाती है। कई बार ऐसा भी देखा जाता है कि हम शरीर के मल-मूत्र आदि को जबरन देर तक रोके रहते है, इस कारण से भी यह रोग हो सकता है । अत:शरीर के विषैले तत्वों को बाहर निकलने से बिलकुल भी नहीं रोकना चाहिए।

सफेद दाग के लक्षण

सफेद दाग ऐसा दाग होता है जो समय के साथ बढ़ता जाता है। सफेद दाग में न तो दर्द होता है और न ही खुजली लेकिन हाँ जब आप सफेद दाग को धुप की रौशनी में ले जायेगे तो इसमें हलकी जलन सुरु हो जायगी। सफेद दाग जिस जगह पर होता है वहाँ के बालों का रंग भी काले से सफ़ेद हो जाता है।

सफेद दाग में परहेज

सफेद दाग में परहेज एक अहम भूमिका निभाता है, कई आयुर्वेदाचार्य का यह मानना है कि सफेद दाग से पीड़ित व्यक्ति अगर परहेज करने में कामयाब हो जाता है तो 6 से 10 महीने के भीतर उसके सफेद दाग पूरी तरह से ठीक हो जाएंगे।

सफेद दाग से पीड़ित व्यक्ति को दही और आम सहित सभी खट्टी चीजों से दूरी बनाकर रखनी चाहिए। सफेद दाग में खट्टी चीजों का परहेज करना होता है, भोजन में बहुत अधिक खटाई, मिर्च मसाले, तेल और गुड आदि का सेवन न करें। इसके अलावा आप कोई भी चीज खा सकते हैं।

सफेद दाग का रामबाण इलाज

मुझे खुद भी सफेद दाग की समस्या थी, मैंने लंबे समय तक आधुनिक युग की महंगी दवाइयां खाई लेकिन कोई असर ना पड़ा, लगातार सफेद दाग में वृद्धि होती रही। इसलिए मैं आपको सलाह देना चाहता हूं कि अगर आप किसी भी तरह की आधुनिक दवाइयों का सेवन करते हैं तो तुरंत इस तरह की दवाइयां खाना बंद कर दें। इस तरह की दवाइयों खाने से आपको किसी प्रकार का लाभ नहीं होगा और दाग बढ़ते रहेंगे।

सफेद दाग को ठीक करने के लिए आप आयुर्वेदाचार्य का सहारा लें, पुरानी तकनीक और जड़ी बूटियों द्वारा निर्मित दवाइयों से सफेद दाग पूरी तरह से समाप्त हो सकते हैं। मुझे सफेद दाग में वैद्य जी द्वारा दी गई जड़ी-बूटी से बहुत ज्यादा आराम मिल रहा है, इसलिए अगर आप भी किसी वैद्य द्वारा अपना इलाज करवाते हैं तो निश्चित रूप से सफेद दाग ठीक हो जाएंगे। वैसे सफेद दाग में पत्थरचट्टा का पत्ता बहुत लाभदायक होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here