भारत और पाकिस्तान के बीच कुछ ना कुछ विवाद चलते रहता है ,भारत और पाकिस्तान के बीच (POK) विवाद को लेकर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने बीते दिनों इंडिया के DNA E- Conclave’ में कहा कि वे भारत का सिर किसी भी हाल में झुकने नहीं देंगे, साथ ही लद्दाख में LAC पर जारी भारत-चीन सीमा विवाद, नेपाल के नए नक्शा विवाद और पीओके (POK) पर राजनाथ सिंह ने वरिष्ठ पत्रकार सुधीर चौधरी के साथ सामूहिक रूप से खुलकर बातचीत की. इस दौरान उन्होनें लद्दाख में चीन के साथ जारी गतिरोध पर कहा कि भारत और चीन के बीच में पहले भी ऐसी घटनाएं होती रही हैं. इस समय भी दोनों तरफ फोर्स हैं लेकिन भारत और चीन के बीच मिलिट्री लेवल पर बातचीत जारी है. उन्होंने कहा कि हम भारत का मस्तक किसी भी हालत में झुकने नहीं देंगे. पीएम मोदी के नेतृत्व में हम इस मसले को सुलझा लेंगे.

पीओके पर रक्षा मंत्री ने कहा कि भारत की संसद ने पीओके को भारत का हिस्सा बताया है. संसद का ये संकल्प है कि हम पीओके को लेकर रहेंगे और हमें इसे पूरा करना है. क्या भारत 2024 से पहले पीओके को पाकिस्तान से लेकर रहेगा इस सवाल पर रक्षा मंत्री ने कहा कि ये हमारी संसद का संकल्प है. हालांकि उन्होंने सीधे तौर पर कुछ कहने से इनकार कर दिया लेकिन इशारों-इशारों में कहा कि हम पीओके को पाकिस्तान से वापस लेकर ही रहेंगे.

नेपाल के नक्शा विवाद पर राजनाथ सिंह ने कहा कि नेपाल भारत का भाई है. उसके साथ हमारे भावनात्मक रिश्ते रहे हैं. हम कभी नहीं चाहेंगे कि इन रिश्तों में खटास आए. हम इस मसले को बातचीत से हल करेंगे. ये पूछे जाने पर कि क्या नेपाल को चीन उकसा रहा है इसपर उन्होंने कहा कि मैं यहां किसी पर आरोप नहीं लगा रहा. लेकिन ऐसा हो सकता है.

उन्होंने कहा कि हम न तो किसी देश को झुकाना चाहते हैं और न ही अपने देश को झुकने देंगे. चीन और भारत के बीच जारी गतिरोध को हम बातचीत से सुलझाने की कोशिश कर रहे हैं.

sources :- upvartanews.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here