वहीं मौलाना की तरफ से सवालों के गोलमोल जवाब देने को लेकर क्राइम ब्रांच 5वां नोटिस देने की तैयारी में है। क्राइम ब्रांच का कहना है कि जब तक हमारे सवालों के जवाब नहीं मिल जाते, तब तक हम उन्हें नोटिस भेजते रहेंगे। क्राइम ब्रांच का कहना है कि मौलाना को सूचित किया जा चुका है कि एम्स या फिर किसी मान्यता प्राप्त सरकारी लैब से कोरोना की जांच कराकर हमें रिपोर्ट सौंप दें। मगर मौलाना ने सरकारी लैब की टेस्ट रिपोर्ट नहीं सौंपी है।

इस पर मौलाना के वकील अयूबी का कहना है कि अगर क्राइम ब्रांच चाहती है तो हम दूसरा टेस्ट भी कराएंगे। वैसे भी हम जांच एजेंसी के साथ पूरा सहयोग कर रहे हैं। हम उनके हर नोटिस का जवाब भी दे रहे हैं। हमने उनके कहने पर ही मौलाना साद का कोविड-19 टेस्ट कराया था, जिसकी रिपोर्ट नेगेटिव आई थी। उन्होंने कहा कि हम क्राइम ब्रांच को पूरा सहयोग दे रहे हैं। कुछ जवाब से जुड़े दस्तावेज भेजने हैं, जो आते ही भेज दिए जाएंगे।

मालूम हो कि क्राइम ब्रांच ने दो बार मरकज, मौलाना साद के घर और शामली स्थित फार्म हाउस में छापेमारी की। इस दौरान जमात मुख्यालय के पदाधिकारियों, प्रशासनिक विभाग व बाकी यूनिट के कर्मचारियों समेत 47 लोगों से पूछताछ की गई और 40 लोगों के बयान दर्ज किए गए। इस दौरान जमात से जुड़े बैंक खाते समेत 11 अकाउंट को खंगाला गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here