4

खाते में एक साथ इतने रुपये आने की पुष्टि होने के बाद किशोरी ने बैंक और कोतवाली में तहरीर देकर मामले की जांच की मांग की है।जानकारी के मुताबिक़ बलिया के बांसडीह इलाके में स्थित इलाहबाद बैंक में कोड़र क्षेत्र के रूकूनपुरा गांव की सूबेदार साहनी की बेटी सरोज का खाता है। गत सोमवार को वह अपने खाते में जमा राशि की जानकारी लेने के लिए बैंक पहुंची तो उसे बताया गया कि उसके खाते में नौ करोड़ 99 लाख चार हजार 736 रूपये हैं। खाते में 10 करोड़ रूपये की जानकारी होने पर वह परेशान हो गयी। मां के साथ बैंक पहुंची किशोरी ने तुरंत मामले की जानकारी बैंक के वरिष्ठ अधिकारियों और स्थानीय कोतवाली में दी।

पुलिस को दी गई तहरीर में सरोज ने बताया कि उसने साल 2018 में इलाहबाद बैंक में खाता खुलवाया था,तभी दो वर्ष पहले ही उसके पास कानपुर देहात के गांव पाकरा निवासी निलेश नाम के एक व्यक्ति का काल उसके मोबाइल पर आया और उसने पीएम आवास दिलाने के नाम पर उससे उसका नाम, आधार कार्ड और फोटो मांगा। सरोज ने आधार की फोटो काफी व अन्य कागजात उसके बताए पते पर भेज दिया। सरोज ने बताया कि कुछ दिन बाद उसके घर के पते पर डाक द्वारा एटीएम भी आया, जिसकी जानकारी उसने निलेश को दी तो निलेश ने वह भी उसके पते पर भेजने को कहा तो सरोज ने एटीएम की भी रजिस्ट्री कर दी और एटीएम का पिन भी निलेश को बता दिया।

खाते से कई बार हो चुका है रुपयों का लेन देन

इधर बैंक कर्मचारियों का कहना है कि सरोज के इस बैंक के खाते से कई बार रुपये का लेन-देन किया गया है। वहीं सरोज का कहना है कि उसे इस बारे में कुछ भी नहीं मालूम कि रुपये कहां से आए हैं और इससे हमारा कोई मतलब नहीं है। सरोज ने पुलिस को जानकारी दी कि निलेश कुमार जिस मोबाइल नम्बर से उससे बातचीत करता था, वह अब बंद बता रहा है। इस पूरे मामले में बांसडीह के प्रभारी निरीक्षक राजेश कुमार सिंह ने बताया कि खाते में 9 करोड़ 99 लाख रुपये आने की पूरी जांच पुलिस के सहयोग से बैंक द्वारा की जाएगी और मामले में दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा हो सकता है यह साइबर क्राइम हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here