गणतंत्र दिवस के 15 रोचक तथ्य – जाने क्यों दुनिया में भारत देश की शान निराली है :- गणतंत्र दिवस के दिन अपने राष्ट्रीय ध्वज को लहराते हुए देखना और गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रीय एंथम को गाते हुए सुनने से जो आनंद मिलता है, उसे बयान करना मुश्किल है। बेशक आपने इसका अनुभव अपनी ज़िन्दगी में कई बार लिया होगा लेकिन हर बार यह एहसास आपके रोंगटे खड़े कर देता है। अब जब साल का सबसे महत्वपूर्ण दिन यानि गणतंत्र दिवस हो तो आप अपने गर्व की भावना को छुपाकर नहीं रख सकते।

पांचवी 7वीं 8वीं 12वीं पास के लिए गवर्नमेंट सेक्टर में जबरदस्त भर्तियां अभी करें आवेदन

प्राइवेट सेक्टर में निकली है बंपर भर्ती विभिन्न पदों पर जल्दी करें आवेदन

पूरा देश इस दिन को पटाखों, परेड और दूसरे तरीके से मनाते हैं लेकिन अब समय हैं कि गणतंत्र दिवस के इतिहास को समझा जाये और कैसे भारत एक मजबूत देश बना:

  1. पहला गणतंत्र दिवस हमारी आज़ादी के तीन साल बाद यानि 26 जनवरी 1950 में मनाया गया। दरअसल भारत के संविधान को लिखने में 2 साल 11 महीने का समय लगा।
  2. भारत के पहले राष्ट्रपति डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद ने 26 जनवरी 1950 के दिन गवर्नमेंट हाउस के दूबर हॉल में शपथ ली थी।
  3. गणतंत्र दिवस की परेड में एक ईसाई गाना “अबाइड विद मी” बजाय जाता है और यह महात्मा गाँधी के पसंदीदा गानों में से एक है।

  1. भारत के नाम विश्व का सबसे लम्बा संविधान होने का रिकॉर्ड दर्ज है। भारत के संविधान में कुल 448 आर्टिकल दर्ज है।
  2. भारत के पहले गणतंत्र दिवस पर इंडोनेशिया के पहले राष्ट्रपति सुकर्णो मुख्या मेहमान बनकर आये थे।
  3. गणतंत्र दिवस की महत्वता इसी बात से लगायी जा सकती है कि यह समारोह तीन दीं तक चलता है और इसका समापन 29 जनवरी को बीटिंग रिट्रीट समारोह से होता है।

  1. 26 जनवरी 1965 के दिन हिंदी को भारत की राष्ट्रीय भाषा घोषित किया गया था।
  2. 26 जनवरी 1930 को भारत ने पूर्ण स्वराज हासिल करने की शपत ली थी और इसलिए इस तारिख को हमारे स्वतंत्रता सैनानी महत्वपूर्ण बनाना चाहते थे और परिणाम स्वरुप 26 जनवरी 1950 को भारत को शासक देश बनाने के लिए चुना गया।
  3. हमारे संविधान में बाकी देशों के संविधान की अच्छी बातें मौजूद है, जैसे आज़ादी, समानता और भाईचारा को फ्रेंच संविधान से लिया गया है और पांच साल का प्लान यूएसएसआर संविधान से लिया गया है।

  1. गणतंत्र दिवस की पहली परेड मेजर ध्यानचंद नेशनल स्टेडियम में हुई थी और इसमें 15000 लोगों ने हिस्सा लिया था।
  2. भारतीय संविधान दो भाषाओं में लिखा हुआ है- हिंदी और अंग्रेजी। इसे 308 सदस्यों ने 24 जनवरी 1950 में साइन किया था और दो दिन बाद इसे लागू किया गया था।
  3. गणतंत्र दिवस की शाम को कई राष्ट्रीय पुरुस्कार जैसे भारत रत्न, कीर्ति चक्र और पद्मा अवार्ड का एलान करने के लिए चुना गया।

  1. भारतीय गणतंत्र दिवस के शुरू होने से पहले भारत 1935 में ब्रिटिश सरकार द्वारा बनाये गए भारतीय सरकार एक्ट के अनुसार चलते थे।
  2. 1950 में पहले गणतंत्र दिवस के दिन सुबह 10.30 बजे पहले राष्ट्रपति को मुबारकबाद देने के लिए 31 तोपों की सलामी दी गयी थी।
  3. गणतंत्र दिवस के दिन भारतीय वायुसेना का निर्माण किया गया। इससे पहले भारतीय वायुसेना एक कण्ट्रोल सेना थी लेकिन गणतंत्र दिवस के बाद भारतीय वायुसेना एक स्वतंत्र सेना बन गयी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here