देशभक्तों के बलिदान से आजाद हुए है हम,
कोई पूछे कौन हो तुम तो गर्व से कहना भारतीय है हम.

याद रखेंगे वीरो तुमको हरदम,
यह बलिदान तुम्हारा है,
हमको तो है जान से प्यारा यह गणतंत्र हमारा है.

मेरे देश में एक तंत्र है, यहाँ पर एक गणतंत्र है.

जब भी हम गणतन्त्र मनाएंगे,
शहीदों को न भूल पाएंगे.

पूरी दुनिया में चलो नाम कमाए,
सब मिलकर एक मजबूत गणतन्त्र बनाये.

 गांधीजी का सपना सत्य बना तभी तो देश गणतंत्र बना.

 

कसम गणतंत्र दिवस पर ये खायेगे,
हम सभी एकजुटता से मिलकर रहेंगे

इस दिन के लिए वीरो ने अपना खून बहाया है,
झूम उठो देशवासियों गणतंत्र दिवस फिर आया है,

कश्मीर से कन्याकुमारी, भारत माता एक हमारी.

चलो मिलकर अखण्ड भारत बनाये,
जिसमे सभी को अधिकार दिलाये.

चलो फिर से खुद को जगाते है,
देश के शहीदों के आगे अपना सिर झुकाते है.

हमको मिला है एक संविधान,
जिसमे है हमारा सुखी विधान.

गणतन्त्र मनाये,
अपना देश बढ़ाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here