6
कोरोना का संकट हर दिन गहराता जा रहा है | इसकी रोकथाम के लिए तमाम तरह के प्रयास किये जा रहे है, लेकिन फिर भी कोरोना को किसी भी तरह से काबू में नहीं जा सका है | ऐसे में इन दिनों किसी के कोरोना संक्रमित हो जाने पर लोग उस संक्रमित व्यक्ति से अमानवीय व्यवहार करने लगे है | ऐसी ही एक चौकाने वाली खबर आयी है |
खबर के अनुसार डेढ़ साल पहले एक महिला हिना का निकाह हुआ था | वह प्रेग्नेंट थी, घर में जल्द ही किलकारियां गूंजने वाली थी | ऐसे में महिला का पति उसे डिलीवरी के लिए हॉस्पिटल ले गया और वहां जांच में सामने आया की महिला Covid 19 पॉजिटिव है | इसका जैसे ही उस महिला के पति को पता चला, वह अपनी पत्नी को छोड़कर भाग गया | इतना ही नहीं जब अस्पताल के कर्मचारियों ने उसे फ़ोन किया तो उसने अपनी पत्नी को ही पहचानने से इंकार कर दिया |
इसी बीच महिला की सिजेरियन सर्जरी में देरी भी हुयी, जिसकी वजह से महिला का बच्चा गर्भ में ही मर गया | इतनी बड़ी मुसीबत को झेलने के बाद भी महिला ने कोरोना को हराया और अपने मायके लौट गयी |
अब महिला का कहना है कि वो अब कानून की मदद लेगी |  जानकारी के अनुसार महिला का नाम हिना है और वह इंदिरानगर की रहने वाली है | साल 2019 के फरवरी माह में उसकी शादी चांदन गाँव के फारूक से हुयी थी | 4 जुलाई को उसे डिलीवरी के लिए अस्पताल लाया गया था |
हॉस्पिटल में डॉक्टर्स ने जब महिला की जांच की तो महिला कोरोना पॉजिटिव पायी गयी | बाद में जब इसकी खबर जैसे ही फारूक को मिली | वह हॉस्पिटल से भाग गया,  ऐसे में फिर महिला ने अपने पिता को अपनी स्थिति की जानकारी दी |
इसके बाद हिना के पिता ने भी फारूक को फ़ोन किया तो उसने किसी भी तरह के रिश्ते को नकार दिया | साथ ही हॉस्पिटल द्वारा कॉल किये जाने पर उसने किसी भी कोरोना मरीज से ताल्लुक ना होने की बात कह दी | इसके बाद हिना की देखरेख के लिए उसकी बहन को आना पड़ा, बाद में दोनों को लोकबंधु अस्पताल में भेज  दिया गया |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here