3

भारत के कुछ राज्यों में तबाही मचाकर तौकते चक्रवात अब गुजरात की तरफ बढ़ रहा है। चक्रवात अब भीषण तूफान का रूप ले लिया है। मौसम विभाग (weather department)ने पहले से गुजरात को अर्लट कर दिया है। जिससे वह आने वाले तूफान से निपटने के लिए तैयार हो सके। अभी तक जिन राज्यों ने तूफान आया था तो उसकी रफ्तार की गति 180-190 किमी प्रति घंटे की रफ्तार है। कहा जा रहा है कि अब इसकी गति भी तेजी से बढ़कर 210 किमी प्रति घंटे में परिवर्तित हो रही है। तौकते चक्रवात के उत्तर-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और सोमवार शाम गुजरात तट तक पहुंचने की संभावना है। बता दें कि उसी शाम तौकते तूफान के पोरबंदर और महुवा (भावनगर जिला) के बीच गुजरात तट को पार करने की संभावना भी है। मौसम विभाग ने चेताया है कि  तेजी से बढ़ रहा चक्रवाती तूफान 155-165 से 185 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तटों से टकरा सकता है।

मौसम विभाग ने यह भी कहा कि यह तौकते चक्रवात गुजरात के साथ अहमदाबाद के पोरबंदर, अमरेली जूनागढ़, गिर सोमनाथ, बोटाद, भावनगर और तटीय इलाकों में आने वाले तूफान से बड़े पैमाने पर नुकसान कर सकता है।

कच्चे मकानों को हो सकता है भारी नुकसान

तेजी से आ रहे तूफान से भारी तादात में नुकसान हो सकता है। आशंका जताई जा रही है कि जहां छप्पर से मकान बने है वह पूरी तरह से बर्बाद हो जाएंगे। कच्चे माकानों पर बड़ी संख्या में नुकसान हो सकता है। उड़ने वाली वस्तुओं से संभावित खतरा, बिजली और संचार के खंभों को मुड़ या उखड़ सकते हैं,सड़कों को बड़ा नुकसान हो सकता है। कुछ जगहों पर बाढ़ भी आ सकती है। इलाके की सारी खड़ी फसल भी खराब हो सकती है। इसके अलावा खड़ी फसल को भारी नुकसान हो सकता है, पेड़ गिर सकते हैं, छोटी नांवों को भी नुकसान पहुंच सकता है।

बता दें कि गुजरात के देवभूमि द्वारका, कच्छ, जामनगर, राजकोट, मोरबी, वलसाड, सूरत, वडोदरा, भरूच, नवसारी और आणंद जिलों में भी कुछ नुकसान होने की आशंका है। आईएमडी ने आदेश जारी किया है कि जो जगह असुरक्षित  है वहां से लोगों को हटाया जाए। मछली पकड़ने के संचालन को पूरी तरह से हटाने की सिफारिश की जा रही है। इसके अलावा यह भी कहा है कि प्रभावित क्षेत्रों में लोग अपने-अपने घर के अंदर ही रहें। ऐसे तूफान आने के समय में गाड़ियों से आना जाना, जहाजों की उड़ान पूरी तरह से खतरे भरा है।

185 किमी घंटे की रफ्तार से करेगा पार

आईएमडी में चक्रवातों की प्रभारी सुनीता देवी ने कहा, “तौकते अपने ट्रैक पर है धीरे धीरे यह बढ़ ही रहा है। गुजरात के तटीय इलाकों को 155 से 165 किसी से लेकर 185 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से पार करेगा।

मंगलवार की सुबह बहुत जल्दी तट को पार करने की संभावना है। गोवा के रडार से इस मौसम पर नजर बनाए हुए है। मिलने वाली जानकारी लोगों तक पहुंचाई जा रही है। इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ ट्रॉपिकल मौसम विज्ञान के एक जलवायु वैज्ञानिक रॉक्सी मैथ्यू कोल ने कहा, “पिछले 24 घंटों के दौरान समुद्र से गर्मी और ऊर्जा के कारण तौकता 65 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हुआ।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here