6

राजधानी दिल्ली में महिला से दुष्कर्म के बाद जूते की माला पहनाकर घुमाने के मामले में पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर 15 लोगों की पहचान की है। इनमे से 7 महिलाओं से समेत 9 आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है। पुलिस ने दो नाबालिग आरोपियों को भी गिरफ्तार किया है। अन्य आरोपियों की तलाश में पुलिस की पांच अलग-अलग टीमें छापेमारी कर रही हैं। ज्ञात हो कि, पूर्वी दिल्ली के कस्तूरबा नगर में एक महिला का कथित तौर पर अपहरण किया गया, जिसके बाद उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया। इसके बाद महिला के चेहरे पर कालिख पोतकर उसे जूते की माला पहनाकर घुमाया गया।

बदला लेने के लिए किया गया महिला का अपहरण और सामूहिक दुष्कर्म
दिल्ली पुलिस के अनुसार, 20 वर्षीय पीड़िता की काउंसलिंग की जा रही है। वो आनंद विहार में अपने पति के घर पर रहती थी। पीड़िता का अपहरण करने वाला आरोपी कस्तूरबा नगर में उसकी मां के घर के पास रहता था। शुरुआती जांच में संकेत मिले हैं कि आरोपी के परिवार का लड़का और पीड़िता दोस्त थे। आरोपी परिवार के लड़के ने नवंबर 2021 में आत्महत्या कर ली थी, जिसके लिए परिवार पीड़िता को दोषी ठहरा रहा है। परिवार महिला को सबक सिखाना चाहता था और इसलिये उसने कथित तौर पर उसका अपहरण कर लिया।

आरोपियों को उकसा रही थीं महिलाएं
दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने बताया है कि, पीड़िता का अपहरण उसके घर से कर लिया गया था। शराब-नशीली दवाओं के अवैध व्यापार में शामिल लोगों द्वारा पीड़िता से सामूहिक दुष्कर्म किया गया था। पीड़िता ने आरोप लगाया कि जब उससे सामूहिक दुष्कर्म किया जा रहा था, तब मौके पर मौजूद महिलाएं पुरुषों को उकसा रही थीं।

पीड़िता के परिवार को पुलिस ने मुहैया कराई सुरक्षा
पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया है कि, उन्होंने पीड़िता को बदनाम करने के लिए उसके यौन उत्पीड़न किया और उसे सार्वजनिक रूप से अपमानित किया। आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने अपहरण और सामूहिक बलात्कार समेत 12 धाराओं में मामला दर्ज किया है। पीड़िता को फिलहाल पुलिस सुरक्षा भी
मुहैया कराई गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here