6

ज्योतिष के अनुसार जून माह में कई सारे ग्रह अपने स्थान से परिवर्तन करने वाले हैं। जिसका असर सभी राशियों पर पड़ेगा। राशि पर पड़ने वाले असर शुभ भी हो सकता है अशुभ भी। ज्योतिषाचार्य का कहना है कि आने वाले 4 महीने में ग्रहों का गोचर होगा। तो आइए जानते हैं कि यह ग्रह किन राशियों में गोचर कर रहे हैं और इसका असर कब तक रहने वाला है।

मंगल का कर्क राशि में गोचर

मंगल ग्रह को ग्रहों का सेनापति कहा जाता है 2 जून से यह ग्रह मिथुन राशि से कर्क राशि में प्रवेश करेगा इस राशि में मंगल अगले माह 20 जुलाई 2021 तक रहेंगे चंद्रमा की राशि है और यह मंगल देव की नीच राशि मानी जाती है अपनी नीच राशि में ग्रह काफी कमजोर हो जाता है

उपाय

ग्रहों के परिवर्तन से बचने के लिए जातक को लाल रंग की चीजें शिवलिंग पर चढ़ाएं जाने से अनुकूल असर होगा।

बुध का वृष राशि में गोचर

बुध ग्रह को बुद्धि और वाणी का कारक कहा जाता है बुद्धदेव 3 जून 2021 को अपने मित्र शुक्र की राशि वृष में प्रवेश करेंगे किस राशि में बुध ग्रह 7 जुलाई 2021 तक रहेगा फिर यहां मिथुन राशि में प्रवेश करेगा कहां जा रहा है इस राशि में राहु पहले से विराजमान है जब बुध इस राशि पर प्रवेश करेगा तो राहु का प्रभाव कम हो जाएगा।
उपाय

बुध ग्रह के अशोक परिणामों से बचने के लिए इस ग्रह की कथा पढ़े कथा के पश्चात हरे रंग की चीजों का दान करें। हो सके तो इस दिन जातक को हरे रंग के कपड़ों को पहनना चाहिए।

सूर्य का मिथुन राशि में गोचर

सूर्य को ग्रहों का राजा मारा जाता है गृह उर्जा का स्रोत माना जाता है और गृह मंत्रालय 2021 को वृषभ राशि से निकलकर मिथुन राशि में प्रवेश करें 16 जुलाई 2021 तक राशि में रहने के बाद सूर्य नीच की राशि कर्क में प्रवेश करेंगे।

उपाय

रविवार के दिन सूर्य की पूजा करें और उपवास रखें जातक को सूर्य भगवान को सुबह-सुबह अर्घ्य भी जरूर दें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here