3

सावन के महीने में भगवान शिव की विशेष कृपा होती है। ऐसे में घर का वास्तु दोष भी हम इनकी कृपा से सुधार कर सकते है। भगवान की शिवलिंग पर गंगाजल चढ़ाना बहुत ही शुभ माना जाता है। इससे भगवान शिव जल्द प्रसन्न हो जाते है। इससे भक्त के सभी कष्ट भी दूर हो जाते है। इस जल से हम घर में फैसे वास्तु दोष को भी हटा सकते है। इसके लिए आपको अपने घर में नियमित रूप से गंगाजल का चारों तरफ छिड़काव करना चाहिए। ऐसा करने से घर में फैली निगेटीवीटी दूर हो जाती है। यहीं नहीं परिवार में हो रहे क्लेश भी दूर हो जाते है नकारात्मकता का नाश होने के साथ सकारात्मकता माहौल बनेगा।

1
भगवान शिव की उपासना करने से बहुत से वास्तुदोष खत्म हो जाते है, जिन भवनों में वास्तुदोष हो, वहां सुख-शांति के लिए शिवलिंग पर अभिषेक के बाद जलहरी के जल को घर लाकर ‘ॐ नमः शिवाय करालं महाकाल कालं कृपालं ॐ नमः शिवाय ‘ ये मंत्र का जाप करते हुए गंगाजल का छिड़काव करना चाहिए। काम में विघ्न-बाधा, आपसी कलह, रोग आदि समस्या दूर करने के लिए उत्तर-पूर्व (ईशान)या ब्रह्म स्थान में रुद्राभिषेक करना बहुत शुभ रहेगा।

2
अगर आप चाहते है कि घर-परिवार पर भगवान शिव कृपा बनी रहे, धन की वृद्धि हो, तो इसके लिए घर की पूर्व या उत्तर-पश्चिम (वायव्य) दिशा में बिल्व पेड़ लगाएं और नियमित जल दें। शाम के समय घी का दीपक जलाएं इससे आपको फायदा होगा। सकारात्मक ऊर्जा प्रवाह में वृद्धि के लिए शिव परिवार की फोटो लगाना भी बहुत अच्छा होता है। वास्तु दोषों का प्रभाव रोकने के लिए तुलसीदास जी रचित श्री रुद्राष्टकम का पाठ सुख्रद परिणाम देता है।
3
घर खुशहाली बनी रहे इसके लिए शाम को लोबान की धूप जलाकर ॐ नमः शिवाय जप करते हुए उसे घर की चारों दिशा में घुमाएं। घर की नकारात्मकता दूर करने के लिए नमक अच्छा विकल्प है। शाम को घर के सभी कोनो में नमक बिखरा दें, सुबह बाहर फेंक दें। यदि आप पोछा लगाते समय पानी में भी थोड़ा नमक मिलाकर लगाते है तो वास्तुदोष को खत्म करने में सहायक होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here