दरअसल बुद्ध पूर्णिमा के मौके पर वर्चुअल कार्यक्रम का अयोजन किया गया। इस दौरान दुनिया के तमाम बड़े नेता हिस्सा बने। इस दौरान पीएम मोदी ने देश को संबोधित किया। जिसमें पीएम मोदी ने कहा कि इस बार परिस्थितयां काफी ज्यादा अलग है। दुनिया एक बहुत बड़ी परेशानी से घिर चुकी है। आपके बीच आना मेरे लिए हमेशा सौभाग्य की बात होगी लेकिन इस बार की स्थिति मुझे ऐसा करने की इजाजत नहीं देती है। बुद्ध के कदम पर चलकर ही भारत आज दुनिया की मदद कर रहा है फिर चाहे वो देश में हो या फिर विदेश में है। इस दौरान भारत लाभ और हानि को नहीं देख रहा।

इसके आगे पीएम मोदी ने कहा कि भारत बिना किसी स्वार्थ के दुनिया के साथ खड़ा है। हम अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा तो कर ही रहे है लेकिन हमे दूसरों की भी सुरक्षा का ध्यान रखा होगा। इस संकट के समय में सभी को मदद की जरूरत है ऐसे में हमें सबकी मदद करनी होगी। हमारा काम निरंतर सेवा भाव का होना चाहिए। दूसरों के लिए करुणा-सेवा का भाव रखना जरूरी है। पीएम मोदी ने कहा कि बुद्ध किसी एक परिस्थिति तक सीमित नहीं है वह हर किसी को मानवता की मदद करने का संदेश देते है। आज बेशक समाज की व्यवस्था बदल चुकी है लेकिन बुद्ध का संदेश आज भी वही है। हम सभी को जीवन में उसका विशेष ध्यान रखा होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here