6

आचार्य चाणक्य ने अपने द्वारा लिखी गई कई नीतियों का वर्णन किया है उनकी लिखी गई सभी नीतियां आर्थिक संकट, वैवाहिक जीवन, नौकरी पेशा, व्यापार, मित्रता और दुश्मनी आदि से संबंधित होते हैं। उनके द्वारा बताई गई हर में थे कारगर साबित होती है। अगर हम अपने जीवन में उनको ढाल ले तो हमारा जीवन अवश्य ही सफल हो जाता है। लॉगइन का पालन करके अपने जीवन को सुखद बनाते हैं। चाणक्य ने एक नीति के जरिए बताया है। कि आखिर आर्थिक तंगी आने से पहले कौन से पांच संकेत मिलते हैं। उन्होंने बताया है कि जैसे ही यह संकेत मिलने लगे व्यक्ति को सावधान हो जाना चाहिए।

तुलसी का पौधा

हिंदू धर्म में तुलसी के पौधे का बहुत महत्व होता है। लोग इस पौधे में जल चढ़ाना बहुत शुभ मानते हैं। चाणक्य की नीति के अनुसार तुलसी का पौधा सूखने अशुभ माना जाता है। तुलसी के पौधे का विशेष ध्यान रखना चाहिए इसका सुखना आर्थिक तंगी आने का इशारा देता है।

हर समय क्लेश

चाणक्य का कहना है कि जिस घर में रोजाना लड़ाई झगड़े होते हैं। वहां लक्ष्मी का वास नहीं होता है। ऐसे घर में बनते हुए काम बिगड़ जाते हैं। परिवार के लोगों में मतभेद पैदा हो जाता है। यही वजह है कि घर में कलेश होता है यदि प्लेस को नहीं रोका गया तो समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

शीशे का टूटना

चाणक्य के अनुसार टी शीशे का टूटना बहुत अशुभ होता है। यह भी इशारा देता है कि घर में आर्थिक तंगी आने वाली है घर में टूटा हुआ कांच का टुकड़ा नहीं रखना चाहिए। यह घर में दरिद्रता लाता है।

पूजा-पाठ ना होना

चाणक्य का कहना है कि घर में पूजा पाठ नहीं होता है। वहां नकारात्मक शक्तियों का वास होता है। ऐसे घरों में दर्द होता आना जायज है। परिवार के लोगों में मनमुटाव रहता है। इसलिए घर में रोजाना भगवान की पूजा होना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here