10

एक तरफ जहां वास्‍तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर तनाव कम करने की सभी कोशिशें जारी हैं वहीं डेपसांग समतल क्षेत्र और दौलत बेग ओल्‍डी क्षेत्र में चीनी सेना निर्माण कार्य में लगी हुई है जिसका मुद्दा भारत ने सेनाओं के अधिकारियों की बैठक में उठाया है। भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल ने उनके चीनी समकक्ष सहित विशेष प्रतिनिधियों से LAC पर सैन्य निर्माण के मुद्दे को हल करने के लिए बातचीत की है जिसके बाद भारत कूटनीतिक और सैन्य स्तरों समेत चीन के साथ लगातार बातचीत करके हर मुद्दे को सुलझा रहा है।

चीन के साथ चल रही बातचीत के दौरान हालही में भारत ने चीन को साफ़ साफ़ समझया है कि, उसने जो चालाकी की वो सबके सामने सामने हैं। पहले सैन्य अभ्यास के नाम पर चीन ने पूर्वी लद्दाख में LAC पर सैनिकों को बड़ी संख्या में युद्ध-सामग्री के साथ तैनात किया था। चीन की चालाकी कमर्शियल सैटेलाइट की मदद से सामने आ गई थी। जिसके बाद भारत ने चीन से डेपसांग के मैदानी क्षेत्र और डीओबी सेक्‍टर में चीनी बिल्‍डअप और कंस्‍ट्रक्‍शन एक्टिविटी के मुद्दे पर अपना पक्ष रखते हुए कड़ी आपत्ति जताई है।

वहीं भारतीय सेना की गश्त चीनी सेना द्वारा पेट्रोलिंग प्वाइंट 10 पर रुकावट पैदा करने का भी मुद्दा उठाते हुए कहा कि, पेट्रोलिंग प्‍वाइंट 13 पर चीनी सेना बड़े स्तर पर निर्माण कार्य में लगी हुई है। 15 जून को भारत और चीनी सेना के बीच हुई खूनी झड़प के बाद युद्ध जैसे हालात बने हुए थे जिसे आपसी बातचीत के जरिए सामान्य किया गया वहीं दोनों ही देशों की सेना के बीच तय हुआ कि, अपनी पुरानी स्थित‍ि में वापस आएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here