गलवान घाटी भारत- चीन सीमा के पश्चिमी हिस्से में LAC पर चीन की तरफ है। जहां पिछले कई वर्षों से चीनी सैनिक इस क्षेत्र में गश्त करते आ रहे हैं। और वहीं ड्यूटी पर रहे हैं। भारत पर बड़ा आरोप लगाते हुए झाओ ने कहा है कि, मौजूदा वर्ष में अप्रैल माह से ही गलवान घाटी में LAC पर भारतीय सैनिक लगातार सड़कें, पुल और दूसरे निर्माण करते आ रहे हैं। इसे लेकर कई बार चीन भारत से कई शिकायत भी की गई लेकिन भारत ने कुछ नहीं किया बल्कि उकसाने वाला कदम उठाते हुए LAC क्रॉस की।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लीजियान ने कहा है कि, 6 मई की रात में भारतीय सैनिकों ने LAC क्रॉस चीन क्षेत्र में आ गए और सुबह तक किलेबंदी करते हुए बैरिकेड लगा दी। जिसके बाद सीमा पर गश्त करते हुए चीनी देखा और उन्हें गश्त करने में परेशानी हुई। जिसके बाद चीनी सैनिकों को ऐसी परिस्थिति से निपटने के लिए मजबूर किया गया।

झाओ का कहना है कि, भारत के साथ शांति बहाल के सभी स्तरों पर बातचीत का क्रम जारी है। उन्होंने यह भी कहा कि, 15 जून की रात को भारतीय सेना ने कमांडर स्तर की बैठक में हुए समझौते का उल्लंघन करते हुए LAC पार चीनी सेना पर हिंसक हमला किया है। गौरतलब है कि, 15 जून को हुई हिंसा में भारत के 20 जवान शहीद हुए थे और चीन के 43 जवान मारे गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here