रिसर्च में हुआ खुलासा :- कोरोना का खर निरंतर जारी है, ऐसे में वैज्ञानिक एक और नयी जानकारी दी है | वैज्ञानिको ने बताया है कि गंजे लोगो को कोरोना का खतरा और इससे मृत्यु का खतरा बहुत अधिक है | वैज्ञानिको ने बताया है कि बालो के झड़ने का कारण एंड्रोजन हार्मोन होता है | कोरोना वायरस के सबसे खराब मामलो में इस हार्मोन का संबंध पाया गया है |
डेली मेल में छपी एक खबर के मुताबिक अमेरिका की ब्राउन यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर और रिसर्च के प्रमुख कार्लोस वैम्बियर ने बताया है कि गंजापन कोरोना के गंभीर मामलो का संकेत देता है | उन्होंने कहा कि पहले किये गए रिसर्च से ये पता चल चूका है कि पुरुषो की मृत्यु की आंशका की दर महिलाओं से कहीं अधिक है |
प्रो. वैम्बियर ने बताया कि हमारे शरीर में मौजूद एंड्रोजन हार्मोन कोरोना वायरस के लिए एक गेटवे का काम करता है | उन्होंने इसके लिए स्पेन में रिसर्च भी किया और उसमे उन्होंने पाया कि हॉस्पिटल में भर्ती होने वाले कोरोना पीड़ितों में गंजे लोगो का अनुपात ज्यादा है |
इसके बाद उन्होंने मेड्रिड के अस्पताल में भी एक स्टडी की | इसमें उन्होंने पाया की 122 मरीजों में से 79 % मरीज गंजे थे | बता दे उनकी ये रिसर्च American Academy of Dermatology जर्नल में प्रकाशित हुयी है |
इसके साथ स्पेन में एक और स्टडी में सामने आया कि कोरोना से पीड़ित 41 मरीजों में से 71 % मरीज गंजे थे | इससे एक बात तो साफ़ है, गंजे लोगो को कोरोना का खतरा अधिक है | ऐसे में उन्हें सतर्कता बरतने की सख्त जरूरत है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here