चीन की तरफ से 10 भारतीय सैनिकों को रिहा किये जाने के बाद भारत में इसको लेकर सियासत शुरू हो गई थी कि क्या भारत ने चीनी सैनिकों को बंधक बनाया है। इस पर केंद्रीय मंत्री और पूर्व सेना प्रमुख जनरल वीके सिंह ने खुलासा करते हुए बताया कि भारत ने भी चीनी सैनिकों को बंदी बनाया था और दोनों देशों ने एक-दूसरे के सैनिक वापस लौटा दिए हैं। उन्होंने दावा करते हुए बताया कि झड़प चीन के दोगुने सैनिक मारे गए थे।

केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने एक चैनल को दिए इंटरव्यू में बताया कि झड़प के दौरान इसी तरह हमने भी चीनी सैनिकों को दबोचा था और बाद में उन्हें लौटा दिया गया। उन्होंने कहा कि चीन की छिपाने की आदत रही है वह कभी नहीं बताएगा कि उसके कितने सैनिक मारे गए हैं।

1962 के युद्ध में भी उसने संख्या छिपाई थी और इस बार भी वह हताहतों की संख्या नहीं बता रहा है। जनरल सिंह ने गूगल मैप की मदद से बताया गलवान घाटी में भारत के पास जो इलाका था, वो आज भी हमारे कब्जे में ही है। क्षेत्र में किसी तरह का कोई बदलाव नहीं हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here