7

जानकारी के मुताबिक सेजवाही गांव के एक आदिवासी परिवार के एक घर में बीते 24 घंटे से ज्यादा समय से एक नागिन ने डेरा जमा रखा है। परिवार वालों का कहना है की जबसे ने नागिन घर में आई है, तबसे उनका बेटा मुन्ना नाग की तरह हरकतें कर रहा है। उस पर सांप की आत्मा आ गई है और वह फुंफकार रहा है, साथ ही वह पेट के बल चल रहा है।

युवक ने घोषणा की, कि वह 12 बजे गायब हो जाएगा लेकिन जब 12 बजे युवक गायब नहीं हुआ तो लोगों को लगा की इस पर किसी नागिन की आत्मा नहीं आई है बल्कि इस पर भूत का साया है।

बस फिर क्या लोगों से आनन-फानन में किसी तांत्रिक को बुलाया और झाड़ फूंक शुरू की गयी। झाड़ फूंक करने वाले तंत्रिक ने जब उसे डंडे से मारना शुरू किया तो युवक का भूत उतर गया और उसने सबसे माफ़ी मांगनी शुरू की।

तांत्रिक ने बताया कि गांव के बाहर नाग-नागिन का मंदिर बनाने की शर्त पर भूत ने युवक का पीछा छोड़ा है। कोरोना वायरस के दौरान जबकि सरकार ने सख्त निर्देश दिया है की सोशल डिस्टेंशिंग के फार्मूले पर अमल किया जाये,लेकिन यहां हुए तमाशे की न तो प्रशासन को भनक लगी और न ही लोगों में कोरोना महामारी को लेकर भय दिखा।

बाद में कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव को जब इस मामले की जानकारी हुई तो उन्होंने कहा युवक पर धारा 188 के तहत प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here