8
हमारी कुंडली में मौजूद ग्रह जब अशुभ स्थिति में होते है, तो हमे परेशानियों और कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है | ऐसे ग्रहो को ज्योतिष में पीड़ित ग्रह भी कहा जाता है | कई बार ये पीड़ित ग्रह हमारे दैनिक जीवन के साथ साथ हमारे स्वास्थ्य पर भी नकारात्मक प्रभाव डालने लगते है | इतना ही नहीं ये बीमारियों का कारण बनते है | ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे है कि कौनसा ग्रह किस बीमारी का कारण बनता है |
सूर्य:- सूर्य के अशुभ फल देने पर व्यक्ति सिर और आँखों से जुडी समस्या का शिकार होने लगता है | इससे बचने के लिए व्यक्ति को कभी झूठ नहीं बोलना चाहिए |
चन्द्रमा:- चन्द्रमा के अशुभ फल देने पर व्यक्ति कफ और पेट से जुडी समस्या का शिकार होने लगता है | ऐसी स्थिति से बचने के लिए व्यक्ति को अपने आस पास साफ़ सफाई रखनी चाहिए |
मंगल:- कुंडली में मंगल की अशुभ स्थिति होने पर व्यक्ति को रक्त से जुडी समस्या का सामना करना पड़ता है | ऐसे में व्यक्ति को गेंहू के आते का चूरमा बनाकर उसका सेवन करना चाहिए |
बुध:- बुध अशुभ होने पर व्यक्ति दांत और नसों की समस्याओ से जूझने लगता है | इससे बचने के लिए गाय को हरी घास खिलाये |
गुरु:- गुरु के पीड़ित होने पर सांस से जुडी समस्या होने लगती है | ऐसे में व्यक्ति को हरे तोते को चने की दाल खिलानी चाहिए |
शुक्र:- सम्पन्नता का प्रतीक शुक्र अशुभ होने पर कई बीमारियां लाता है | ऐसी स्थिति से बचने के लिए आप गाय को रोटी खिलाये |
शनि:- शनि की अशुभ स्थिति पेट से जुडी समस्या पैदा कर सकती है | ऐसे में आप लोगो को सम्मान दे, शनिदेव प्रसन्न होंगे |
राहु:- राहु के अशुभ होने पर व्यक्ति बार बार बुखार से पीड़ित होने लगता है | ऐसी स्थिति में व्यक्ति को सफाई कर्मचारी, निर्धन व्यक्तियों को भोजन करना चाहिए |
केतु:- केतु का अशुभ प्रभाव शरीर में हड्डियों से जुडी समस्या पैदा कर देता है | ऐसे में आपको बुजुर्गो की सच्चे मन से सेवा करनी चाहिए और कुत्ते को मीठी रोटी खिलानी चाहिए |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here