रेलवे मंत्रालय के द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि ट्रेन के किराये में स्लीपर क्लास का टिकट, सुपरफास्ट का 30 रुपये शुल्क और भोजन व पानी के लिए प्रति यात्री 20 रुपये का शुल्क शामिल होगा। वहीं श्रमिक दिवस के अवसर पर इस सेवा के तहत पहली ट्रेन 12 यात्रियों को लेकर शुक्रवार सुबह 4.50 बजे हैदराबाद से झारखंड के लिए रवाना हुई थी।

रेलवे ने अपने बयान में आगे कहा है कि यात्रियों को रेलवे से कुछ भी खरीदने की जरूरत नहीं है। राज्य सरकारें उनका भुगतान करेंगी। आपको बता दें कि देश में कोरोना खतरे को देखते हुए 24 मार्च को लॉकडाउन का ऐलान किया था। इस बीच उन लोगों को काफी समस्याएं हुईं जो अपने घर से दूर हैं। इसके चलते सोशल मीडिया से लेकर हर जगह घर वापसी की मांग की जाने लगी जिसके चलते सरकार ने ये अहम फैसला सुनाया।

ल मंत्रालय ने बताया कि ये ट्रेनें तेंलगाना के लिंगमपल्ली से झारखंड के हटिया सुबह 4.50 बजे, महाराष्ट्र के नासिक से उत्तर प्रदेश के लखनऊ रात 9.30 बजे, केरल अलुवा से ओडिशा के भुवनेश्वर शाम छह बजे, नासिक से मध्यप्रदेश के भोपाल रात आठ बजे, राजस्थान के जयपुर से बिहार के पटना रात नौ बजे और राजस्थान के कोटा से हटिया के बीच रात नौ बजे से चलेंगी।

 

वहीं देश में कोरोना वायरस के मामले 35 हजार से ज्यादा हो गई हैं। साथ ही 1100 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं। वहीं सरकार ने लॉकडाउन 3.0 का भी ऐलान कर दिया है। लॉकडाउन अब 4 मई से 17 मई तक बढ़ा दी गई है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here