वर्जनाएं अब टूट रही हैं, पढ़ाई नौकरी या कामकाज के सिलसिले में युक्तियां अपनी जद की सीमाएं लांघ रही हैं | ऐसे में बेरोकटोक वाली एकाकी जिंदगी उन्हें ज्यादा रास आ रही है | माना कि आम भारतीय परिवारों में विवाह पूर्व सेक्स को अभी भी वर्जित समझा जाता है और इसे चोरी छिपे ही अंजाम दिया जाता है | लेकिन यही रोक-टोक युवाओं को सेक्स के और अधिक करीब खींच कर ला रही है | वैसे तो सिंगल सेक्स अपने आप में एक फ्रीडम का एहसास कराता है, पर इसके कुछ फायदे भी हैं जैसे –

  • इससे बोल्डनेस का एहसास होता है;
  • यह कथित वर्जनाओं को तोड़ने का चरम एहसास कराता है

सिंगल सेक्स के नुकसान 

भले ही सिंगल रहने वाली युक्तियां सेक्स को लेकर मुखरित हो पर इसके अपने कुछ नुकसान भी हैं –

  • मल्टी पार्टनर से संक्रमण के के खतरे बढ़ जाते हैं;
  • चीटिंग का खतरा हमेशा बना रहता है;
  • लंबे समय तक ऐसी फ़्रीडम आपको फिजिकल प्रॉब्लम सभी भेज सकती हैं |

माना कि सिंगल सेक्स आपको रियल सेक्सुअल फन दे सकता है, पर अपनी सेक्सुअल प्राइवेसी को लेकर आप सतर्क भी रहें | सेक्सुअल फ्रीडम की भी लिमिट तय करें | तभी आप इसके आनंद के चरम पर पहुंच सकती हैं और उसके बिंदास अंदाज में रंग सकती हैं | सेक्सुअल इंडिपेंडेंसी जहां आपको बेबाक और बोल्ड बनाती है, वही मोरल पुलिसिंग का शिकार भी बनाती है | इसलिए फन के साथ केयर का भी ख्याल रखें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here