पति-पत्नी के रिश्तों के बीच विश्वास की डोर को मज़बूत करना है। करवा चौथ के दिन पत्नियां अपने पति की लंबी उम्र के लिए उपवास रखती है और पति अपनी पत्नियों को उपहार देते है। लेकिन आजकल तो कुछ पति जी भी अपनी पत्नी की लंबी उम्र के लिए व्रत उपवास रखते हैं। यही प्रेम, उत्साह, एक दूसरे के प्रति समर्पण और प्याग धीरे धीरे इस रिश्ते की डोर को और भी मज़बूत बनाता है और एक दूसरे के लिए जीने की प्रेरणा देता है। आज हम भी आपको कुछ ऐसे ही टिप्स बता रहे हैं जिनसे आप अपने जीवन साथी का दिल भी जीत सकते हैं और अपने इस प्यारे रिश्ते को और भी ख़ूबसूरत और मज़बूत बना सकते हैं।

1. विश्वास

पति पत्नी शादी शुदा ज़िंदगी की गाड़ी के दो ऐसे पहिये होते हैं जो एक दूसरे के विश्वास पर टिके होते हैं। जैसे ही किसी एक का अपने दूसरे जीवन साथी पर से विश्वास कम होने लगता है वैसे ही गाड़ी का पहिया भी डगमगाने लगता है और गाड़ी पटरी पर से उतर जाती है। इसीलिए ज़िंदगी में कितने भी उतार चढ़ाव आए। एक दूसरे के प्रति अपने विश्वास को कभी कम ना होने दें। बल्कि हर पल उस विश्वास की डोर को अपने प्यार से मज़बूत बनाते जाएं। तभी ज़िंदगी की गाड़ी हमेशा खुशहाली के साथ अपनी पटरी पर चलती रहती है।

2. आपसी समझ

हर इंसान कितना भी अच्छा क्यों न हो, उसमें कुछ न कुछ बुराई अवश्य होती है और इन्हीं बुराइयों को लेकर अक्सर विवाद भी उत्पन्न होते है। जिससे खुशहाल जीवन में कलह और कलेश शुरू हो जाते है। इसीलिए रिश्तों में कमियों को ढूँढ़ने के बजाए उनकी अच्छाइयों पर ध्यान दें क्योंकि विचारों एवं स्वभावों का उचित सामंजस्य ही सुखी वैवाहिक जीवन का कारण बनता है।

3. आंखों का संपर्क बढ़ाएं

कहते हैं जब आपकी जुबां आपका साथ नहीं दे पाती तब आंखें ही बिन बोले दिल की हर एक बात कह जाती है। इसीलिए जितनी बार संभव हो सकें उतनी बार अपने पार्टनर की आंखों में आंखे डालकर देखें। इससे आप उनकी आँखों में छुपे प्यार और अपनेपन को भी महसूस कर सकते हैं।

4. बातचीत बंद न करें

अक्सर पति-पत्नी में जब झगड़ा होता है तो वो लोग एक दूसरे से बोलना बंद कर देते हैं। जबकि बातचीत बंद करने से बातें और ज़्यादा बिगड़ जाती है। जिससे समस्या सुलझने के बजाय उलझ जाती है। इसीलिए जब भी मनमुटाव हो तो बातचीत बंद न करें क्योंकि बातचीत करने से ही समस्या का हल निकलता है। यह जीवन साथी का दिल दुखाने वाला काम है। अपनी गलतियों को स्वीकार कर झुकने का नाम ही प्रेम है और ऐसा करने से एक दूसरे के प्रति सम्मान और प्यार और भी बढ़ जाता है।

5. एक दूसरे के साथ समय बितायें

काम से फुर्सत निकालकर एक दूसरे के साथ कुछ लम्हें ज़रूर बिताएं या कहीं घूमने जाएं। इससे जहां एक दूसरे को जानने का अवसर मिलता है। वहीं रिश्तों में अपनापन भी बढ़ता है और इससे रिश्ते मज़बूत होते हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here