3

अब इस दिशा में अनवरत प्रयास किए जा रहे हैं। सोशल डिस्टेंसिंग, मुंह पर मास्क और हाथों में सैनिटाइज का इस्तेमाल कोरोना को बेजान करने की कोशिश का अटूट हिस्ता तो है ही, मगर अब खबर है कि कोरोना के इसी कहर पर विराम लगाने की दिशा में चीन ने अपने फ्लाइट मेें क्रू मेंबर को डायपर पहनने के निर्देश दिए हैं। क्रू मेंबर को प्लेन में टॉयलेट का इस्तेमाल करने की मनाही दी गई है। इसके लिए क्रू मेंबर को 38 पेज के दिशानिर्देश भी जारी किए गए हैं। जिसमें पूरे नियम कायदे कानून समाहित हैं।

टॉयलेट से फैल सकता है कोरोना 
इस बारे में तो फिलहाल ज्यादा कुछ कहने की जरूरत नहीं है कि चीन ही वो देश हैं, जहां से कोरोना का प्रसार पूरी दुनिया में हुआ है। शुरूआत में वुहान शहर में कोरोना के मामले दिखे। इसके बाद फिर यह बेहद तेजी से पूरी दुनिया में फैलते चले गए। उधर, अब कुछ ऐसे मामले सामने आए हैं,  जिसमें टॉयलेट से कोरोना के फैलने की बात कही जा रही है, जिसको मद्देनजर रखते हुए अब चीन ने अपने प्लेन के सभी क्रू  मेंबर को डायपर पहनने का आदेश दे दिया है। डायपर को पीपीई किट में शामिल कर दिया गया है। वहीं, डायपर के इतर क्रूब मेंबर को मास्क, डबल लेयर वाली डिस्पोजल, मेडिकल रबड़ गलव्स, चश्मे, डिस्पोजेबल कैप, डिस्पोजेबल कपड़े और शू कवर पहनने की सलाह दी गई है।

मानसिक स्थिति की भी होगी जांच 
इसके साथ क्रू मेंबर के मानसिक स्थिति की भी जांच होगी, जिसमें यह पता लगाया जाएगा कि क्रू मेंबर मनासिक रूप से तनावग्रस्त तो नहीं है। अगर ऐसा हुआ तो पहले उसे मानसिक रूप से तनावमुक्त करने की दिशा में कार्य किया जाएगा। कोरोना काल में अनेकों लोग तनावग्रस्त हुए हैं। लिहाजा, अब जब सभी कामों का संचालन शुरू हो चुका है  तो संस्थान किसी भी ऐसे कर्मचारी को अपने यहां नहीं रखना चाहती है, जो तनावग्रस्त हो, लिहाजा सभी कर्मचारियों के मानसिक हालत की जांच की जा रही है।

किन फ्लाइटस में लागू होंगे ये नियम 
यहां हम आपको बताते चले कि यह नियम महज चीन से आने  जाने वाली फ्लाइट्स में ही लागू होंगे या फिर जहां 10 लाख से अधिक कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here