तो इस वजह से संसद में साथ नहीं बैठेंगे सनी देओल और हेमा मालिनी :- बॉलीवुड अभिनेता सनी देओल भी हेमा मालिनी की तरह राजनीति में कदम रख चुके हैं। हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव 2019 में दोनों ने भारी मतों से जीत भी हासिल की। बता दें कि, जहां एक ओर सनी ने पंजाब के गुरदासपुर से चुनाव लड़ा, तो वहीं दूसरी ओर हेमा मालिनी उत्तर प्रदेश के मथुरा की सीट के लिए लड़ रही थीं। दोनों ही इन सीटों पर विजयी रहे। इसके बाद दोनों ही सांसद लोकसभा में बैठने वाले हैं। लेकिन इसी के साथ अब खबर आई है कि दोनों साथ में नहीं बैठेंगे।

आपको बेशक इस खबर को जानकर हैरानी होगी। लेकिन बता दें कि, यह दोनों के रिश्तों में कड़वाहट के कारण नहीं है। बल्कि ऐसा एक नियम के चलते होगा। दरअसल, सनी देओल ने हाल ही में राजनीति में कदम रखा है। ऐसे में यह पहला मौका होगा जब सनी सांसद में अपनी मौजूदगी दर्ज करवाएंगे। वहीं दूसरी ओर हेमा मालिनी को राजनीति में एक लंबा वक्त बिता चुकी है।

दिग्गज अदाकारा अब सीनियर सांसद बन गई हैं। इसीलिए वह सांसद में भी आगे की सीटों में से किसी एक पर बैठेंगी। जबकि सनी देओल को पीछे की ओर लगी हुई सीटों पर जगह मिलेगी। बता दें कि, यह पहला अवसर था जब सनी ने चुनाव लड़ रहे थे और पहली ही बार में उन्होंने जीत भी हासिल कर ली। गुरदासपुर की सीट से अब तक दिवंगत अभिनेता विनोद खन्ना चुनाव लड़ते हुए दिखे थे।

लेकिन उनके देहांत के बाद ऐसे कयास लगाए जाने लगे कि भाजपा इस सीट से विनोद खन्ना की पत्नी को टिकट देगी। हालांकि पार्टी ने दिग्गज अभिनेता धर्मेंद्र के बेटे सनी देओल को इस सीट के लिए चुना। सनी ने इन चुनावों के लिए एक खास तैयारी की थी। उन्होंने अपने इलाके के हर सदस्य से मुलाकात की साथ ही उनकी समस्याओं की एक लिस्ट भी तैयार की। खैर अब देखना यह है कि, क्या सनी अपने क्षेत्र के लोगों की उम्मीदों पर खरे उतर पाएंगे या नहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here