दलितों के लिए योगी सरकार ने लिया बड़ा फैसला, ले आए ये बड़ी योजना :- उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार के बाद साल 2017 में भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर प्रदेश में बहुमत सीटें हासिल कीं। इसके बाद भाजपा की सरकार बनी तो योगी आदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश सरकार की कमान दे दी गई। इसके बाद से ही सीएम योगी कई बड़े फैसले ले चुके हैं। हालांकि पहली बार सीएम योगी की सरकार दलितों के लिए एक ऐसा फैसला लेने जा रही है जो मायावती की सरकार भी नहीं ले सकी थी। आइए जानें वो फैसला क्या है।

दलितों के बीच अपनी पहुंच बनाना चाहती है भाजपा

भारतीय जनता पार्टी की सरकार उत्तर प्रदेश में दलितों के बीच अपनी पहुंच बनाना चाहती है। इस बारे में भाजपा के शीर्ष नेतृत्व में मंथन भी हो चुका है। खासकर ऐसा दलित तबका जो मायावती की बसपा को वोट नहीं देता है और असमंजस में रहता है, उन दलितों को अपनी ओर करने के लिए भाजपा ने योजना बनाई है। वहीं मायावती के वोटबैंक पर सेंध लगाने की भी भाजपा की योजना है।

दलितों के लिए ये फैसला लेने जा रही है योगी सरकार

योगी सरकार ने सिर पर मैला ढोने वाले दलित परिवारों को मुख्य धारा से जोड़ने के लिए दमदार फैसला लिया है। सरकार द‌लितों में भी सबसे गरीब परिवारों में से ऐसे बेरोजगार लोग जिन्होंने 12वीं की परीक्षा पास कर रखी है, उनको व्यवसाय संवाददाता के रूप में काम देगी। इनको बिना ब्याज का लोन मिलेगा जिससे वे लोग अपने काम के लिए कंप्यूटर, हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर, एक फिंगर प्रिंट मशीन, स्वैपिंग मशीन और इनवर्टर खरीदेंगे। इसके बाद ये लोग बैंक से जुड़ी सेवाएं प्रदान करके रोजगार अर्जित करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here