जीवन में आ जाएंगी खुशियां :- मान्यता के अनुसार मनुष्य को उसके अच्छे-बुरे काम का फल शनिदेव ही देते हैं। अपने शत्रुओं को परास्त करने के लिए अच्छे काम करने के साथ शनिदेव को भी खुश रखना (Evening Tips) बेहद जरूरी है।

पांचवी 7वीं 8वीं 12वीं पास के लिए गवर्नमेंट सेक्टर में जबरदस्त भर्तियां अभी करें आवेदन

प्राइवेट सेक्टर में निकली है बंपर भर्ती विभिन्न पदों पर जल्दी करें आवेदन

कहा जाता है कि शनि देव जिस पर प्रसन्न हो जाते हैं उसके सारे कष्ट दूर हो जाते हैं। आइए जानते हैं वो खास टोटके (Evening Tips) जिसे करने से शनिदेव खुश होते हैं।

शानिवार को शनिदेव के इस मंत्र ‘कोणस्थ पिंगलो बभ्रु: कृष्णो रौद्रोन्तको यम: सौरि: शनैश्र्चरो मंद: पिप्पलादेन संस्तुत:’ का स्मरण करने से व्यक्ति के सारे दोष दूर हो जाते हैं। बता दें, यह मंत्र अपने आप में शनिदेव के दस नाम हैं।

शनिवार को पीपल के पेड़ की विधि-विधान से पूजा करें। भागवत के अनुसार पीपल, भगवान श्री कृष्ण का ही रूप है। शानि दोषों के निवारण के लिए पीपल की पूजा करें।

शनिवार के दिन नहाने के बाद साफ और सफेद कपड़े पहनें। पीपल की जड़ में केसर चंदन, चावल, फूल मिला पवित्र जल अर्पित करें। तिल के तेल का दीपक जलाएं।

शनिवार से एक दिन पहले यानी शुक्रवार को सवा किलो काले चने अलग-अलग 3 बर्तन में भिगोकर रख दें। इसके बाद शनिवार को नहाकर, साफ वस्त्र पहनकर शनिदेव का पूजन करें। चनों को सरसों के तेल में छौंक कर इसका भोग शनिदेव को लगाकर अपनी समस्या उन्हें बताएं।

इसके बाद पहला सवा किलो चना भैंस को खिला दें। दूसरा सवा किलो चना कुष्ट रोगियों को बांट दें और तीसरा सवा किलों मछलियों को खिला दें। इस उपाय से शनिदेव का प्रकोप कम होगा और आप अपने शत्रुओं पर विजय पा सकेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here