हम बात कर रहे हैं जोधपूर के रहने वाले युवक अक्षय की।  अक्षय की आज से 6 महीने पहले ही अक्टूबर माह में सगाई हुई थी। सगाई के बाद अक्षय की मां-बाप की आंखों ने भी कुछ सपने देखे थे। उसकी शादी को लेकर, मगर अफसोस इन सपनों को पूरा करने से पहले ही भगवान से उन्हें इस कायनात से रूखसत कर देना मुनासिब समझा।

आपको बता दें कि 6 महीने पहले ही अक्टूबर में अक्षय की सगाई हुई थी। सगाई के बाद अक्षय उसी दिन जोधपुर आ गया था, लेकिन माता-पिता और भाई वहीं रह गए। वे गाड़ी से अगले दिन जोधपुर के लिए रवाना हो गए, मगर कार दुर्घटना में अक्षय का पूरा परिवार मौत का शिकार हो गया और फिर अक्षय की जिंदगी में तन्हाई ने अपना ठिकाना बना लिया। इलके बाद अक्षय के होने वाले सुसुराल वालों ने उससे शादी के बारे में पूछा कि क्या वो शादी करने के लिए राजी है.. तो इस पर अक्षय ने शर्त के साथ शादी के लिए हामी भर दी।

आखिर क्या थी वो शर्त
अक्षय ने अपने शर्त में कहा था कि वो 3 मई के दिन ही शादी करेगा। क्योंकि 3 मई के दिन अक्षय के माता-पिता की शादी हुई थी और अक्षय अपने इस दिन को खास बनाना चाहता था, इसलिए उसने फैसला किया कि वे 3 मई को ही शादी करेगा। बता दें मंगेतर ने भी  शादी के लिए हामी भर दी और फिर बना बैंड बाजा और बारात के साथ बेहद सादगी में यह शादी मुकम्मल हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here