आमंत्रण और निमन्त्रण नाम सुनते ही हर किसी के जहन में दो सवाल कौंधते हैं। या तो मूंह में पानी आ जाता हैं, या फिर लोग समय निर्धारण में लग जाते हैं, कि उन्हें कब पहुंचना हैं । लेकिन आज हम आपको जिस न्यौता या निमन्त्रण से परिचय करवाने जा रहे हैं उस में ना तो भोजन का प्रबंध हैं और ना ही कोई शादी समारोह का आयोजन । जीं हां बल्कि ये न्यौता हैं वोट डालने जरूर पहुंचने का। ये महा आयोजन होने जा रहा हैं प्रदेश में 7 दिसम्बर को। 

अब सवाल ये हैं कि फिर न्यौता देने से इस का क्या वास्ता हैं। तो सुनिये ये न्यौता दे रहा हैं दौसा का जिला प्रशासन और मकसद हैं अधिक से अधिक लोक मतदान करें और लोकतन्त्र को मजबूज बनाए। इस के लिए ही दौसा जिला कलक्टर नरेश शर्मा ने पहली बार इस अनूठी पहल को स्वीप के माध्यम से दौसा में लागू करने का प्रयास किया हैं। इस के लिए बाकायदा आमनत्रण पत्र छपवाए गये हैं। 

इन आमंत्रण पत्रों को मतदाता तक पहुंचाने का जिम्मा प्रशासनिक निभा रहे हैं। कलक्टर नरेश शर्मा की माने तो मतदान भी एक आयोजन हैं और इस के सूत्राधार होते हैं मतदाता। इस लिए हर वर्ग और श्रेणी के मतदाताओं को प्रसासन न्यौता दे कर आग्रह कर रहा हैं कि वे मतदान में अवश्य पधारे। साथ ही प्रसासन की ओर से ये भी भरोसा दिलवाने का प्रयास कर रहा हैं कि वे मतदान केन्द्र पर भय मुक्त हो कर मतदान करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here