12
महाराष्ट्र के बुलढाणा एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है | यहां पुलिस को नदी के किनारे एक नवजात का शव मिला | शव मिलते ही पुलिस ने उसे पोस्टमॉर्टेम के लिए भेज दिया | लेकिन जब डॉक्टर्स ने पोस्टमॉर्टेम शुरू किया तो पता चला कि ये बच्चा नहीं, बल्कि खिलौना है |
अब पुरे जिले में इस अजीबोगरीब घटना की बात हो रही है | पुलिस का मजाक बनाया जा रहा है | साथ ही प्रशासन की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े हो रहे है, कि क्या पुलिस को इस बात का आभास भी नहीं हुआ कि ये बच्चो का खिलौना है | हालाँकि अब अंदेशा लगाया जा रहा है कि ये किसी की शरारत हो सकती है |
जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र के बुलढाणा जिले के बोरजवला गाँव में एक नदी बहती है | पुलिस को खबर मिली कि नदी के किनारे नवजात का शव मिला है | इसके बाद मौके पर पुलिस पहुंची और नवजात के शव का पंचनामा कर सरकारी अस्पताल में पोस्टमॉर्टेम के लिए भेज दिया |
मीडिया को मामले की जानकारी देते हुए पुलिस अधिकारी S.L. चव्हाण ने बताया कि उन्हें पुलिस पाटिल ने मृत बच्चा मिलने की जानकारी दी थी | इसके बाद वे अपने स्टाफ के साथ वहां गए | वहां पर उन्हें 7 या 8 माह का मृत बच्चा दिखाई दिया | इसके बाद  जब उन्होंने बॉडी को उठाया तो कुछ लोग शिकायत देने थाने में आए |
उन्होंने आगे बताया कि इसके बाद वे बॉडी को लेकर खामगांव अस्पताल पहुंचे | दूसरे दिन सुबह पंचनामा कर दस्तावेज बनाए गए | इसके बाद पोस्टमॉर्टेम के समय शरीर में से कपास और स्पंज निकला तो उन्हें समझ में आया कि वह मानव शरीर नहीं बल्कि प्लास्टिक की गुड़िया है | कीचड़ लगने के कारण वह हूबहू नवजात बच्चा दिखाई दे रहा था |
इस मामले में खामगांव हॉस्पिटल के डॉक्टर वैद्य ने बताया कि उन्हें 10 जुलाई की सुबह बताया गया की नवजात का शव पोस्टमॉर्टेम के लिए आया है | इसके बाद वे हॉस्पटल पहुंचे और उन्होंने जब छानबीन की तो पता चला की ये बच्चा नहीं, बल्कि एक  खिलौना है |
उन्होंने बताया कि उसमे में से मिटटी और स्पंज निकली | इसके बाद उन्होंने इसकी जानकारी पुलिस को दी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here