5
घर की सुख शांति के लिए घर का वास्तु ठीक होना सबसे जरुरी है | वास्तु शास्त्र में ये अच्छे से बताया गया है कि किस प्रकार घर में सकारात्मक और नकारात्मक शक्तियां प्रवेश करती है | साथ ही नकारात्मक शक्तियों के प्रभाव के बारे में और इनसे छुटकारा पाने के बारे में भी बताया गया है | जिस प्रकार कई वस्तुए घर में सकारात्मक ऊर्जा को बढाती है | उसी प्रकार ऐसी वस्तुए भी है, जो नकारात्मक शक्तियों के बढ़ने का कारण बनती है | नकारात्मक ऊर्जा के बढ़ने से घर में कलह, आर्थिक नुकसान, कामकाज में रुकावट आने लगती है | इसीलिए इसे दूर किया जाना बेहद जरुरी है | आज हम इसकी वजहों से अवगत करने जा रहे है |
  • वास्तु में घर में बंद पड़ी घड़ी और टूटी हुयी घडी को अशुभ माना गया है | यदि घर में ऐसी घड़ी है, तो उसकी मरम्मत करवाए या उसे घर से बाहर कर दे | घर में पड़ी बंद घड़ी प्रगति में बाधक बनती है |
  • वास्तु के अनुसार घर में कभी भी काली माता की मूर्ति नहीं होनी चाहिए | आप चाहे तो माँ काली ने अन्य रूपों की प्रतिमा घर में रख सकते है |
  • घर के पूजा स्थल में कभी भी टूटी हुयी अर्थात खंडित मूर्ति नहीं रखनी चाहिए | ये नकारात्मकता का कारण बनती है |
  • शिवलिंग महादेव का प्रतीक है | शिवलिंग की नित पूजा करना शुभ फल प्रदान करता है | लेकिन बता दे घर मे शिवलिंग स्थापित करना सही नहीं माना गया है |
  • घर में आईना या खिड़की या खिड़की दरवाजे के शीशे टूट गए है, तो उन्हें जल्द ही बदलवा दे | टुटा शीशा रिश्तो में दरार की वजह बनता है |
  • घर में कभी टूटे हुए बर्तन या इलेक्ट्रॉनिक सामान ना रखे | ये आपके घर में नकारात्मकता की वजह बनता है | ये तरक्की में रुकावट पैदा करता है |
  • नटराज की मूर्ति घर में सही नहीं मानी गयी है | ये महादेव का उग्र रूप है, ये महादेव के तांडव नृत्य की प्रतिकृति है | ये विनाश का प्रतीक मानी गयी है |
  • घर में कभी डूबते जहाज की तस्वीर लगनी चाहिए | ये आमदनी में कमी की और निर्धनता की वजह बनती है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here