8
नेपाल में एक सुनहरे रंग का कछुआ मिला है, जिसे लेकर लोगो में एक अलग ही उत्साह देखने को मिल रहा है | लोग इस कछुए को पवित्र मान पूज रहे है | इतना ही नहीं लोग दूर दूर से इस कछुए को देखने के लिए आ रहे है | कई लोग तो इसे भगवान विष्णु का अवतार बता रहे है |
ये कछुआ धनुषा जिले के धनुषधाम नगर निगम इलाके में मिला है | मिथिला वाइल्डलाइफ ट्रस्ट ने कछुए की पहचान इंडियन फ्लैप कछुए के रूप में की है | बताया जा रहा है कि जेनेटिक म्युटेशन की वजह से कछुए का रंग सुनहरा हो गया है |
वन्यजीव विशेषज्ञ कमल देवकोटा ने बताया कि कछुए का नेपाल में बड़ा धार्मिक महत्व है | नेपाल के लोगो का मानना है कि पृथ्वी  को बचाने के लिए भगवान श्रीविष्णु ने धरती पर कदम रखा है | कमल देवकोटा ने बताया कि हिन्दू धर्म में कछुए के ऊपरी खोल को आकाश और निचले खोल को पृथ्वी माना गया है |
विशेषज्ञों का कहना है कि नेपाल में पहली बार सुनहरे रंग का कछुए मिला है | पूरी दुनिया में केवल 5 ही  ऐसे कछुए है | ये एक असामान्य खोज  है | देवकोटा ने कहा की जेनेटिक्स में परिवर्तन से प्रकृति पर बुरा असर पड़ता है, लेकिन ये जीव हमारे लिए बेशकीमती है |
विशेषज्ञों ने कहा कि जींस में बदलाव की वजह से कछुए का रंग सुनहरा  हो गया है | इसे क्रोमेटिक ल्युसिजम कहा जाता है | इसकी वजह से ही जानवरो का रंग सफ़ेद या मध्यम हो जाता है | एल्बिनो जानवरो के पैदा होने की वजह यही है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here