7

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार प्रदेश के युवाओं को नौकरी सहित रोजगार के पर्याप्त अवसर उपलब्ध कराने के तत्पर है। इस बात की जानकारी देते हुए राज्य सरकार के प्रवक्ता ने कहा कि बेसिक शिक्षा विभाग की तरफ से सहायक अध्यापकों के 69,000 रिक्त पदों पर भर्ती के लिए 6 जनवरी, 2019 को टीटीई की परीक्षा कराई गई थी।

उन्होंने कहा कि 7 जनवरी, 2019 को जारी शासनादेश में टीटीई परीक्षा पास करने के लिए सामान्य वर्ग के लिए न्यूनतम 65 और पिछड़ा वर्ग व अन्य आरक्षित वर्गों के लिए 60 प्रतिशत अंक निर्धारित किया गया था। इस शासनादेश के सम्बन्ध में कुछ अभ्यर्थियों की तरफ से हाईकोर्ट में रिट याचिकाएं दाखिल की गई थीं। याचिका रामशरण मौर्या बनाम राज्य सरकार व अन्य में हाईकोर्ट की तरफ से 29 मार्च, 2020 को शासन के पक्ष में निर्णय सुनाया गया। हाईकोर्ट 21 मई, 2020 को पारित अपने आदेश में राज्य सरकार को निर्देशित किया था कि शिक्षामित्रों की तरफ से धारित सहायक अध्यापकों के पदों को छोड़कर बाकी शेष पदों पर भर्ती की प्रक्रिया पूरी कराई जाए।

हाईकोर्ट के इसी आदेश के अनुपालन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि 31,661 पदों की भर्ती प्रक्रिया को हर हाल में एक हफ्ते में पूरी करा ली जाए। ज्ञात हो कि प्रदेश सरकार आगामी तीन महीनों में सभी सरकारी विभागों में रिक्त पड़े लाखों पदों पर भर्ती की बड़ी मुहिम शुरू करने जा रही है। मुख्यमंत्री के निर्देश के मुताबिक करीब तीन लाख पदों पर भर्ती कर अगले वर्ष मार्च तक चयनित युवाओं को नौकरी का नियुक्ति पत्र दे दिए जाने की तैयारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here